पौराणिक ग्रंथों में वर्णित हैं मां शाकंभरी की यह कथा...




मां शाकंभर‍ी देवी दुर्गा के अवतारों में एक हैं। दुर्गा के सभी अवतारों में से मां रक्तदंतिका, भीमा, भ्रामरी, शताक्षी तथा शाकंभरी प्रसिद्ध हैं। नवरात्रि में इनकी कथा का पाठ अवश्‍य करना चाहिए।

मां शाकंभरी की पौराणिक ग्रंथों में वर्णित कथा के अनुसार, एक समय जब पृथ्‍वी पर दुर्गम नामक दैत्य ने आतंक का माहौल पैदा किया। इस तरह करीब सौ वर्ष तक वर्षा न होने के कारण अन्न-जल के अभाव में भयंकर सूखा पड़ा, जिससे लोग मर रहे थे। जीवन खत्म हो रहा था। उस दैत्य ने ब्रह्माजी से चारों वेद चुरा लिए थे।
तब आदिशक्ति मां दुर्गा का रूप मां शाकंभरी देवी में अवतरित हुई, जिनके सौ नेत्र थे। उन्होंने रोना शुरू किया, रोने पर आंसू निकले और इस तरह पूरी धरती में जल का प्रवाह हो गया। अंत में मां शाकंभरी दुर्गम दैत्य का अंत कर दिया।

एक अन्य कथा के अनुसार शाकुम्भरा (शाकंभरी) देवी ने 100 वर्षों तक तप किया था और महीने के अंत में एक बार शाकाहारी भोजन कर तप किया था। ऐसी निर्जीव जगह जहां पर 100 वर्ष तक पानी भी नहीं था, वहां पर पेड़-पौधे उत्पन्न हो गए।

यहां पर साधु-संत माता का चमत्कार देखने के लिए आए और उन्हें शाकाहारी भोजन दिया गया। इसका तात्पर्य यह था कि माता केवल शाकाहारी भोजन का भोग ग्रहण करती हैं और इस घटना के बाद से माता का नाम 'शाकंभरी माता' पड़ा।



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, ...

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, जानिए प्राचीन रहस्य
प्राचीन भारत में चिकित्सा और सर्जरी के कई किस्से पुराणों में पढ़ने को मिलते हैं। हालांकि ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...
दुर्योधन की पत्नी का नाम भानुमति था। भानुमति के कारण ही यह मुहावरा बना है- कहीं की ईंट ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार ग्रह की परिभाषा अलग है। भारतीय ज्योतिष और पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों की स्थिति
मंगल जब उच्च का होकर वक्री होता है, तो जहां उच्च का फल देता आया है, अब वहां नीच का फल ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि का वीडियो
नागमणि का रहस्य आज भी अनसुलझा हुआ है। आम जनता में यह बात प्रचलित है कि कई लोगों ने ऐसे ...

20 जून 2018 : आपका जन्मदिन

20 जून 2018 : आपका जन्मदिन
दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस ...

20 जून 2018 के शुभ मुहूर्त

20 जून 2018 के शुभ मुहूर्त
शुभ विक्रम संवत- 2075, अयन- उत्तरायन, मास- ज्येष्ठ, पक्ष- शुक्ल, हिजरी सन्- 1439, मु. ...

कर्ज से मुक्ति हेतु करें हनुमानजी के ये 4 उपाय

कर्ज से मुक्ति हेतु करें हनुमानजी के ये 4 उपाय
यदि किसी कारणवश आप कर्ज में डूब गए हैं या कर्ज से परेशान हैं तो हनुमान भक्ति से कर्ज से ...

हनुमानजी पर लिखे गए स्तुति, मंत्र और ग्रंथों की सूची

हनुमानजी पर लिखे गए स्तुति, मंत्र और ग्रंथों की सूची
रामभक्त हनुमानजी पर यूं तो हजारों ग्रंथ, गुटका आदि लिखें गए हैं, लेकिन उनकी स्तुति में ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो यह 6 उपाय आजमाएं
परिश्रम से बड़ा कोई धन नहीं। लेकिन सांसारिक सुखों को हासिल करने के लिए जो धन चाहिए वह अगर ...

राशिफल