Widgets Magazine

महेश नवमी की प्रामाणिक कथा


 
 
 
धार्मिक ग्रंथों के अनुसार माहेश्वरी समाज के पूर्वज क्षत्रिय वंश के थे। एक दिन जब इनके  वंशज शिकार पर थे तो इनके शिकार की कार्यविधि से ऋषियों के यज्ञ में विघ्न उत्पन्न हो  गया, जिस कारण ऋषियों ने इन लोगों को श्राप दिया कि तुम्हारे वंश का पतन हो जाएगा।  माहेश्वरी समाज के पूर्वज इसी श्राप के कारण ग्रसित हो गए थे। 
वेबदुनिया विशेष : महेश नवमी पर होगी और पार्वती की आराधना>  
किंतु ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन भगवान शिवजी की कृपा से उन्हें श्राप से  मुक्ति मिल गई, तब भगवान शिवजी की आज्ञानुसार माहेश्वरी समाज ने क्षत्रिय कर्म छोड़कर वैश्य कर्म को अपना लिया, तब शिवजी ने माहेश्वरी समाज के पूर्वजों को अपना नाम दिया  इसलिए इस दिन से यह समाज 'माहेश्वरी' के नाम से प्रसिद्ध हुआ अत: आज भी माहेश्वरी  समाज वैश्य रूप में ही पहचाने जाते हैं।>  

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व
अक्षय तृतीया के दिन पंखा, चावल, नमक, घी, चीनी, सब्जी, फल, इमली और वस्त्र वगैरह का दान ...

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण
इस पर्व पर अगर पति-पत्नी दोनों व्रत कर के पूजन करें तो सालों साल उनका सौभाग्य बना रहता

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह ...

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह चमत्कारी मंत्र
अक्षय तृतीया के दिन शाम के समय उत्तरमुखी होकर लाल आसान पर बैठकर मां लक्ष्मीजी की उपासना ...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...
14 अप्रैल, शनिवार को सुबह 8 बजकर 27 मिनट पर सूर्य ने मेष राशि में प्रवेश कर लिया हैं। ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, जानिए महत्व
‘अक्षय तृतीया’ के रूप में प्रख्यात वैशाख शुक्ल तीज को स्वयं सिद्ध मुहूर्तों में से एक ...

22 अप्रैल को मनेगी गंगा सप्तमी, आजमाएं ये 8 उपाय

22 अप्रैल को मनेगी गंगा सप्तमी, आजमाएं ये 8 उपाय
वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी कहा जाता है। इस वर्ष ये तिथि 22 ...

शुक्रवार के 11 प्रभावकारी उपाय एवं टोटके देंगे मनोवांछित ...

शुक्रवार के 11 प्रभावकारी उपाय एवं टोटके देंगे मनोवांछित फल...
कई बार ग्रह-नक्षत्र या दोष की वजह से व्यक्ति को मेहनत का पूर्ण फल प्राप्त नहीं हो पाता। ...

शरीर के भीतर के 28 प्राणों को जानकर रह जाएंगे हैरान

शरीर के भीतर के 28 प्राणों को जानकर रह जाएंगे हैरान
हमारा शरीर ब्रह्मांड की एक ईकाई है। जैसा ऊपर, वैसा नीचे। जैसा बाहर, वैसा भीतर। संपूर्ण ...

शुक्र का स्वराशि वृषभ में प्रवेश, क्या होगा 12 राशियों पर ...

शुक्र का स्वराशि वृषभ में प्रवेश, क्या होगा 12 राशियों पर असर...
20 अप्रैल 2018, शुक्रवार से शुक्र अपनी स्वराशि वृषभ में प्रवेश करेंगे। शुक्र को सौंदर्य, ...

23 अप्रैल को है मां बगलामुखी जयंती, जानें कैसे करें

23 अप्रैल को है मां बगलामुखी जयंती, जानें कैसे करें साधना...
सोमवार, 23 अप्रैल 2018 को बगलामुखी जयंती है। मां बगलामुखी की साधना शत्रु बाधा से मुक्ति ...

राशिफल