0

जगन्नाथ पुरी मंदिर की 13 आश्चर्यजनक बातें, आप भी जानिए...

शुक्रवार,जुलाई 13, 2018
0
1
श्री भर्तृहरि की गुफा बड़ा शांत और रम्य स्थल है। समाधि स्थल के पश्चात अंदर जाकर एक संकुचित द्वार से जीने के द्वार गुहा ...
1
2
प्रकृति की गोद में बसे पहलगाम से इसकी शुरुआत होती है और कोई-कोई जो संपन्न होता है, यात्रा खच्चरों पर करता है जबकि बाकी ...
2
3
नौ नारायणों के दर्शन करने से नौ ग्रहों की शांति हो जाती है। इनकी पंचोपचार पूजा करना चाहिए।
3
4
वैष्णोदेवी एक पवित्रतम हिन्दू मंदिर है, जो देवी शक्ति को समर्पित है। यह मंदिर भारत के जम्मू और कश्मीर में पहाड़ी पर ...
4
4
5
मथुरा यमुना नदी के तट पर बसा एक सुंदर शहर है। मथुरा जिला उत्तरप्रदेश की पश्चिमी सीमा पर स्थित है।
5
6
धारणा है कि भक्त प्रह्लाद के जीवन की रक्षा के लिए भगवान विष्णु ने इसी स्तंभ से नृसिंह अवतार लिया...
6
7
नृसिंह मंदिर उस जमाने में सरकारी लश्करी मंदिर के नाम से मशहूर था। यूं इस मंदिर की स्थापना 17वीं शताब्दी में यहां ...
7
8
जैन धर्म दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म है। राजा जनक भी जिन परंपरा से ही थे और उनके गुरु अष्टावक्र भी जिन परंपरा से थे। ...
8
8
9
मांड्या, कर्नाटक। इस राज्य के मांड्‍या जिले में एक ऐसा मंदिर है जहां भक्तगण ए‍क विचित्र चढ़ावा चढ़ाते हैं। मंदिरों में ...
9
10
मां सरस्वती जी के भारत में दो ही सबसे प्राचीन देवस्थल माने जाते हैं ... क्या आप जानते हैं...
10
11
मकर संक्रांति पर श्रीनाथजी यानी ठाकुरजी को इन पदों के साथ पूजा जाता है- पढ़ें विस्तार से...
11
12
मां शाकंभरी के 3 शक्तिपीठ हैं। पहला प्रमुख राजस्थान से सीकर जिले में उदयपुर वाटी के पास सकराय माताजी के नाम से स्थित ...
12
13
कटासराज मंदिर पाकिस्तान के चकवाल गांव से लगभग 40 कि.मी. की दूरी पर कटस में एक पहाड़ी पर है। कहा जाता है कि यह मंदिर ...
13
14
गुजरात का अम्बाजी मंदिर बेहद प्राचीन है। मां अम्बा-भवानी के शक्तिपीठों में से एक इस मंदिर के प्रति मां के भक्तों में ...
14
15
अरब सागर के तट पर स्थित आदि ज्योतिर्लिंग श्री सोमनाथ महादेव मंदिर की छटा ही निराली है। यह तीर्थस्थान देश के प्राचीनतम ...
15
16
साल के 12 महीनों में 1 भी दिन ऐसा नहीं जाता, जब यहां वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन करने के लिए भक्तों का तांता न लगा हो। ...
16
17
चित्रकूट धाम एक भव्य पवित्र स्थल है जहां पर पांच गांव का संगम हैं। इस स्थान पर कारवी, सीतापुर, कामता, कोहनी, नयागांव ...
17
18
व्यास पोथी नामक स्थान बद्रीनाथ से 3 क‌िलोमीटर की दूरी पर उत्तराखंड के माणा गांव में स्थित है। यहां महाभारत के रचनाकार ...
18
19
शिप्रा के उत्तर तट पर 'कालभैरव' का सुविशाल मंदिर है। मंदिर के पास नीचे शिप्रा नदी का घाट बहुत बड़ा और सुंदर पुख्ता बना ...
19