मुस्लिम देश में सैकड़ों सालों से जल रही है देवी माँ की ज्योत...


Last Updated: गुरुवार, 22 सितम्बर 2016 (12:45 IST)
पूर्वी यूरोप और एशिया के मध्य में बसा हुआ एक मुस्लिम देश हैं। लेकिन, आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे की अजरबैजान के सुराखानी में स्थित मां दुर्गा का 300 साल पुराना प्राचीन मंदिर है जहां सैंकड़ों साल से देवी माँ की अखंड ज्योत जल रही है। इस मंदिर में बीते कई सालों से जल रही पवित्र अग्नि के कारण इस मंदिर का नाम 'टेम्पल ऑफ फायर' रखा गया है।
 
मंदिर का वास्तु : मंदिर के चारों ओर पत्थरों से बनी कोठरी या गुफानुमा दीवार है। दरअसल बाहरी दीवारों के साथ कमरे बने हुए हैं जिनमें कभी उपासक रहा करते थे। इसमें एक पंचभुजा (पेंटागोन) अकार के अहाते के बीच में एक मंदिर है। मंदिर के गुंबद पर त्रिशूल स्थापित है। मंदिर के बीचोबीच अग्निकुंड में माता की अखंड ज्योत जल रही है जो सात छिद्रों से निकलती है। एक अग्निकुंड मंदिर के बाहर भी स्थित है।
 
उल्लेखनीय है कि भारत के राज्य हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा से 30 किलो मीटर दूर स्थित है ज्वालादेवी का मंदिर। ज्वालामुखी मंदिर को जोता वाली का मंदिर और नगरकोट भी कहा जाता है। मान्यता है यहाँ देवी सती की जीभ गिरी थी। यह मंदिर माता के अन्य मंदिरों की तुलना में अनोखा है क्योंकि यहाँ पर किसी मूर्ति की पूजा नहीं होती है बल्कि पृथ्वी के गर्भ से निकल रही नौ ज्वालाओं की पूजा होती है। इन ज्वालाओं को सम्राट अकबर ने बुझाने का अथक प्रयास किया था लेकिन वह नहीं बुझा पाया था।
 
अगले पन्ने पर मंदिर का इतिहास...

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :