पारसी नववर्ष से जुड़े अनछुए पहलू

पारसी धर्म का इतिहास और परंपरा

WD|
FILE

एक दौर था जब पारसी का एक बड़ा समुदाय हुआ करता था, लेकिन बदलाव के इस दौर ने हमसे हमारे दूर कर दिए। कई ने करियर और बेहतर पढ़ाई के कारण बड़े शहरों की ओर रुख किया, तो कुछ ऐसे भी हैं जो आज भी समाज को जीवित रखे हुए हैं। अगस्त महीने में पारसी समाज का नववर्ष मनाया जाता है।
वक्त ने जिंदगी के कई खट्टे-मीठे अनुभव कराए, लेकिन हमारे संस्कार ही हैं, जिसके दम पर आज भी अपने धर्म और इससे जु़ड़े रीति-रिवाजों को संभाले हुए हैं। आइए जानते हैं पारसी धर्म और उससे जुड़े कुछ अनछुए पहलू।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :