एनआरआई कोटे में फर्जी तरीकों से प्रवेश

Widgets Magazine

 
 
भोपाल। मध्यप्रदेश में एनआरआई कोटे के जरिए एमबीबीएस में फर्जी तरीके से देने का मामला सामने आया है। इस मामले को लेकर आरटीआई एक्टिविस्ट मनोज त्रिपाठी ने चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री शरद जैन को एक ज्ञापन सौंपा है।
 
'इंडिया वन समाचार डॉट कॉम' को मिली जानकारी के अनुसार मनोज त्रिपाठी ने आरटीआई लगाकर इस बात की जानकारी मांगी थी कि एनआरआई और मैनेजमेंट कोटे में एमपी के प्राइवेट कॉलेजों में कितने एडमिशन हुए हैं?
 
मनोज त्रिपाठी ने बताया कि आरटीआई में आए जवाब से साफ है कि प्राइवेट कॉलेजों ने मनमाने तरीके से पैसे लेकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर छात्रों को एडमिशन दिया है। त्रिपाठी ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इस फर्जीवाड़े को लेकर कार्रवाई नहीं की जाती है तो फिर वे उच्च न्यायालय में जनहित याचिका लगाएंगे।
 
 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।