श्रीनगर में बीएसएफ कैंप पर बड़ा आतंकी हमला...

श्रीनगर| Last Updated: मंगलवार, 3 अक्टूबर 2017 (15:46 IST)
श्रीनगर। अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास स्थित बीएसएफ के एक शिविर पर आतंकवादियों ने मंगलवार सुबह आत्मघाती हमला किया। हमले के बाद हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर हो गए जबकि एक अधिकारी शहीद हो गया और तीन जवान घायल है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू और कश्मीर में बीएसएफ के एक शिविर पर हमला करने वाले आतंकियों का सफलतापूर्वक सफाया करने पर सुरक्षा बलों की प्रशंसा की।

उन्होंने बताया कि मैंने सीआरपीएफ के महानिदेशक और बीएसएफ के महानिदेशक से बात की है। उनके द्वारा चलाया गया यह अभियान सफल रहा। गृहमंत्री ने बताया कि घटना में बीएसएफ के एक सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) शहीद हो गए। इस घटना में दो अन्य घायल हो गए थे लेकिन वे अब खतरे से बाहर हैं।

पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने बताया कि दो शव बरामद किए गए हैं और संदेह है कि यह आतंकवादियों के शव हैं। लेकिन उसकी पहचान अभी नहीं हो पाई है।

बीएसएफ अधिकारियों ने कहा कि आज सुबह लगभग चार बजे हुए इस हमले में तीन कर्मी घायल हुए हैं। आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच गोलीबारी अभी जारी है। मामले से जुड़ी हर जानकारी...

* में फिर गोलीबारी।
* मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, बीएसएफ का एक अधिकारी शहीद,
सर्च ऑपरेशन जारी।
* मुठभेड़ में एक और आतंकी ढेर।
एक पुलिसकर्मी भी घायल।
* श्रीनगर एयरपोर्ट यात्रियों के लिए खुला।

* कुख्यात आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली हमले की जिम्मेदारी।
* हमले के बाद श्रीनगर एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है।
* अभी भी दो आतंकवादियों के बीएसएफ कैंप के अंदर एडमिनिस्ट्रेशन ब्लॉक में छिपे होने की आशंका।
* एक आतंकवादी के मारे जाने की खबर है। बीएसएफ के चार जवान घायल।
* जवानों ने इलाके को घेरकर जवाबी गोलीबारी की।

* बीएसएफ का यह कैंप श्रीनगर सिविल एवं टेक्निकल एयरपोर्ट के काफी नजदीक है।
* शिविर के निकट पुराना श्रीनगर वायु क्षेत्र है जिसका परिचालन भारतीय वायुसेना करती है।
* इलाके में बीएसएफ और सीआरपीएफ के प्रशिक्षण केंद्र भी हैं।
* इस बटालियन पर श्रीनगर हवाईअड्डे के रनवे की सुरक्षा का जिम्मा है।
* आतंकवादी गोगोलैंड में बीएसएफ की 182वीं बटालियन के मुख्यालय में घुस गए थे।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :