गुरु नानकदेव के दोहे

Widgets Magazine

Nanak
 


* एक ओंकार सतिनाम, करता पुरखु निरभऊ।
निरबैर, अकाल मूरति, अजूनी, सैभं गुर प्रसादि ।।

हुकमी उत्तम नीचु हुकमि लिखित दुखसुख पाई अहि।
इकना हुकमी बक्शीस इकि हुकमी सदा भवाई अहि ॥

सालाही सालाही एती सुरति न पाइया।
नदिआ अते वाह पवहि समुंदि न जाणी अहि ॥

पवणु गुरु पानी पिता माता धरति महतु।
दिवस रात दुई दाई दाइआ खेले सगलु जगतु ॥

************

* हरि बिनु तेरो को न सहाई।
काकी मात-पिता सुत बनिता, को काहू को भाई॥

धनु धरनी अरु संपति सगरी जो मानिओ अपनाई।
तन छूटै कुछ संग न चालै, कहा ताहि लपटाई॥

दीन दयाल सदा दु:ख-भंजन, ता सिउ रुचि न बढाई।
नानक कहत जगत सभ मिथिआ, ज्यों सुपना रैनाई॥

*****************

* जगत में झूठी देखी प्रीत।
अपने ही सुखसों सब लागे, क्या दारा क्या मीत॥

मेरो मेरो सभी कहत हैं, हित सों बाध्यौ चीत।
अंतकाल संगी नहिं कोऊ, यह अचरज की रीत॥

मन मूरख अजहूँ नहिं समुझत, सिख दै हारयो नीत।
नानक भव-जल-पार परै जो गावै प्रभु के गीत॥


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iTunes पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।


Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine
news

गुरुनानक का जीवन दर्शन

नानकदेव क्या थे और नानक का दर्शन क्या था? ये सब निरर्थक बातें हैं। नानक के व्यक्तित्व में ...

news

सदैव याद रखें जीवन के 3 मूल सिद्धांत -गुरुनानक

गुरु जी के अनुसार जो नाम का जाप नहीं करते उनका जन्म व्यर्थ चला जाता है। जिस प्रभु की हम ...

news

कार्तिक पूर्णिमा के दिन करें कार्तिकेय का पूजन

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक मास बारह मासों में सबसे श्रेष्ठ मास माना गया है। यह ...

news

बैकुंठ चतुर्दशी की पौराणिक कथा

बैकुंठ चतुर्दशी की पौराणिक कथा के अनुसार एक बार की बात है नारद जी पृथ्वी लोक से घूमकर ...

Widgets Magazine

ज़रूर पढ़ें

ऐसे सपने दिखें तो समझो शादी होने वाली है...

शादी का सपना हर दिल में पलता है। हर युवा जानना चाहता है कि उसका जीवनसाथी कौन होगा, कैसा होगा ? जिसे ...

बच्चों की उन्नति चाहते हैं तो आजमाएं यह वास्तु टिप्स

गृह स्वामी को अपने घर के संपूर्ण वास्तु-विचार के साथ अपने बच्चों के कमरे के वास्तु का भी ध्यान रखना ...

जानिए क्यों है अक्षय तृतीया का विशेष महत्व

अक्षय तृतीया (अखातीज) को अनंत-अक्षय-अक्षुण्ण फलदायक कहा जाता है। जो कभी क्षय नहीं होती उसे अक्षय ...

Widgets Magazine

धर्म संसार

19 अप्रैल 2015 : क्या कहती है आपकी राशि

मेष- बेरोजगारी दूर होगी, प्रयास करें। अचानक धनप्राप्ति होगी। यात्रा सफल रहेगी। वाणी पर संयम रखें। ...

आज जिनका जन्मदिन है (19.4.2015)

दिनांक 19 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 1 होगा। आप राजसी प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। आपको अपने ऊपर किसी ...

समाचार

पूर्वी दिल्ली में 2 पक्षों के बीच झड़प, तनाव

नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके के 2 ब्लॉकों के निवासियों के बीच झड़प हो गई जिसके बाद ...

किन्नरों को भी है खाद्य सुरक्षा का अधिकार

लखनऊ। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने कहा है कि किन्नरों की आबादी खाद्य सुरक्षा और राशन कार्ड ...

Widgets Magazine