गुरु नानकदेव के दोहे

Widgets Magazine

Nanak
 


* एक ओंकार सतिनाम, करता पुरखु निरभऊ।
निरबैर, अकाल मूरति, अजूनी, सैभं गुर प्रसादि ।।

हुकमी उत्तम नीचु हुकमि लिखित दुखसुख पाई अहि।
इकना हुकमी बक्शीस इकि हुकमी सदा भवाई अहि ॥

सालाही सालाही एती सुरति न पाइया।
नदिआ अते वाह पवहि समुंदि न जाणी अहि ॥

पवणु गुरु पानी पिता माता धरति महतु।
दिवस रात दुई दाई दाइआ खेले सगलु जगतु ॥

************

* हरि बिनु तेरो को न सहाई।
काकी मात-पिता सुत बनिता, को काहू को भाई॥

धनु धरनी अरु संपति सगरी जो मानिओ अपनाई।
तन छूटै कुछ संग न चालै, कहा ताहि लपटाई॥

दीन दयाल सदा दु:ख-भंजन, ता सिउ रुचि न बढाई।
नानक कहत जगत सभ मिथिआ, ज्यों सुपना रैनाई॥

*****************

* जगत में झूठी देखी प्रीत।
अपने ही सुखसों सब लागे, क्या दारा क्या मीत॥

मेरो मेरो सभी कहत हैं, हित सों बाध्यौ चीत।
अंतकाल संगी नहिं कोऊ, यह अचरज की रीत॥

मन मूरख अजहूँ नहिं समुझत, सिख दै हारयो नीत।
नानक भव-जल-पार परै जो गावै प्रभु के गीत॥


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iTunes पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।


Widgets Magazine
Widgets Magazine
Widgets Magazine
news

गुरुनानक का जीवन दर्शन

नानकदेव क्या थे और नानक का दर्शन क्या था? ये सब निरर्थक बातें हैं। नानक के व्यक्तित्व में ...

news

सदैव याद रखें जीवन के 3 मूल सिद्धांत -गुरुनानक

गुरु जी के अनुसार जो नाम का जाप नहीं करते उनका जन्म व्यर्थ चला जाता है। जिस प्रभु की हम ...

news

कार्तिक पूर्णिमा के दिन करें कार्तिकेय का पूजन

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक मास बारह मासों में सबसे श्रेष्ठ मास माना गया है। यह ...

news

बैकुंठ चतुर्दशी की पौराणिक कथा

बैकुंठ चतुर्दशी की पौराणिक कथा के अनुसार एक बार की बात है नारद जी पृथ्वी लोक से घूमकर ...

Widgets Magazine

धर्म संसार

4 सितंबर 2015 : क्या कहती है आपकी राशि

मेष- लाभ के अवसर हाथ आएंगे। रोजगार के प्रयास सफल होंगे। परिश्रम अधिक होगा। स्वास्‍थ्य का ध्यान ...

आज के मुहूर्त (4.09.2015)

शुभ विक्रम संवत- 2072, अयन- दक्षिणायन, मास- भाद्रपद, पक्ष- कृष्ण, हिजरी सन्‌- 1436, मु. मास- ...

ज़रूर पढ़ें

एक हजार वर्ष पूर्व रूस में था हिन्दू धर्म?

एक हजार वर्ष पहले रूस ने ईसाई धर्म स्वीकार किया। माना जाता है कि इससे पहले यहां असंगठित रूप से ...

इन 20 चमत्कारिक मंदिरों पर जाने से होगी मुराद पूरी

गुप्तकाल तक को बौद्धकाल माना जा सकता है। बौद्धकाल और गुप्तकाल में कई मंदिरों का निर्माण हुआ। मंदिर ...

चाणक्य नीति : इन 7 को न जगाएं नींद से...

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जीवन को सुखी बनाए रखने के लिए शास्त्रों में कई अचूक नियम दिए गए हैं। अत: ...

Widgets Magazine

समाचार

इंद्राणी ने कबूला अपराध, पीटर से फिर पूछताछ...

मुम्बई। शीना बोरा हत्या मामले की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी ने अपराध में अपनी भूमिका कबूल कर ली ...

केदारनाथ में अब है भूतात्माओं का बसेरा, खौफजदा हैं मजदूर?

देहरादून। उत्तराखंड में सैलाब और उससे आई भयावह त्रासदी के दो साल हो गए है। इस तबाही ने 10 हजार ...