Widgets Magazine

नाहिद को 'ना' कहने वालों, 'हद' में रहो ना...

मैं बच्चों को गाते हुए सुनना पसंद करती हूं चाहे वह लड़का हो या लड़की। और इसकी एक बड़ी वजह है। कोई भी नन्ही आवाज जब गाती है तो सीधे दिल में उतरती है क्योंकि यह आवाज अभी दुनियादारी नहीं जानती, छल-कपट और चालाकियों से वाकिफ नहीं है। यहां तक कि ईश्वर इस आवाज से कितना प्रसन्न होता होगा इससे भी बेखबर है वह। बस उसका गाना ही ईश्वर के साक्षात दर्शन है।
असम की नन्ही गायिका को मिले फतवे कहते हैं कि उसके गाने से ईश्वर नाराज होगा... ईश्वर के इन ठेकेदारों से पूछेगा कोई कि कितना जानते हो अल्लाह, खुदा, ईश्वर और भगवान को ..... जाने कितने नाम से पुकारते हो पर उसे जानना तो दूर उसकी परिभाषा के पास तक नहीं पहुंच सके हो तुम।  
 
मैं भी दावा नहीं करती जान लेने का। लेकिन मैं बस इतना जानती हूं जब कोई छोटी उम्र में कलाकार बनता है तो मन को गहरे तक मोहता है। भावुकता की इतनी-इतनी लहरें आलोडित होती है कि आंखों से आंसू बरसने लगते हैं। कैसे कोई इतना पवित्र आवाज के साथ अभिव्यक्त हो सकता है। मुग्धता के अतिरेक में मैं महसूस करती हूं कि बस यही है ईश्वर..बस यहीं कहीं है उसका अस्तित्व। 
 
पता नहीं संगीत जैसी पावन विधा से खुदा की तौहीन कैसे और क्यों कर हो सकती है? ईश्वर की आराधना का सदियों से यह तरीका रहा है। नात गाते हुए भी तो हम तरन्नुम में होते हैं.... आयतें भी तो सुर में गाई जाती हैं। बात यहां हिन्दू और मुस्लिम की नहीं नन्ही और सच्ची आवाज की है।    >  
चाहे दक्षिण भारत सूर्यलक्ष्मी हो या असम की नाहिद . ..यह वही आवाजें हैं जो आगे चलकर बड़ें मंचों से बड़ी गायकी पेश करेंगी। किस जमाने में रहते हैं हम? किस किस्म की सोच रखते हैं? फतवे जारी करते हुए कभी नहीं लगता इन्हें कि किन मासूमों के खिलाफ खड़े हो रहे हैं हम? तुम अल्लाह के नुमांइदे हो तो जानते होंगे कि बच्चे तो हर धर्म में ईश्वर को प्यारे लगते हैं।> यह तुम्हारे भीतर का कौन सा भय है जो नाजुक सी मलाला से भी डर जाता है और सुहाना सैयद से भी... तुमको जायरा वसीम भी आसान शिकार लगती है और यहां तक कि मिकी माऊस जैसा कार्टून भी तुमको शैतान का बच्चा लगता है.... तुमको सानिया का स्कर्ट भी बुरा लगता है क्योंकि उसके खेलने के कौशल से तुम्हें कोई लेना-देना नहीं है। किसी मुल्क में तुम्हें दो बूंद जिंदगी की इतनी बुरी लगती है कि बच्चों को पोलियो ड्रॉप नहीं पिलाने दिए तुमने.... तुम कहते हो महिलाएं रोमांटिक उपन्यास नहीं पढ़ सकती पर रोमांस तुम्हें उन्हीं महिलाओं के साथ करना है...और हां अरब के मौलाना अब्दुल अजीज बिन अबदुल्ला ने तो यह भी कह दिया था कि अगर पुरुष बहुत भूखे हों तो अपनी पत्नी को खा सकते हैं.... कहीं कोई अंत है इन अजीबोगरीब फतवों का....भगवान ने सबको अपनी स्वतंत्र चेतना दी है आगे बढ़ने के लिए,अपना मुकाम तय करने के लिए...तुम उस हद में प्रवेश कैसे कर सकते हो....नाहिद को 'ना' कहने वालों, 'हद' में रहो ना... 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स से बचने के 4 आसान तरीके...

गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स से बचने के 4 आसान तरीके...
महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान स्ट्रेच मार्क्स होना एक आम समस्या है, क्योंकि इस दौरान ...

लू से हो सकती है मौत, पढ़ें 10 काम की बातें

लू से हो सकती है मौत, पढ़ें 10 काम की बातें
गर्म हवाएं, जो लू कहलाती हैं, आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकती हैं। ये आपके शरीर के तापमान को ...

8 रसीले ज्यूस, सेहत को रखे चुस्त

8 रसीले ज्यूस, सेहत को रखे चुस्त
केवल पानी ही प्यास बुझाने के लिए काफी नहीं होता। शरीर में नमी अधिक देर तक बनी रहे इसके ...

गर्मियों में रखें अपने क्यूट 'पपी' का ख्याल

गर्मियों में रखें अपने क्यूट 'पपी' का ख्याल
जानवरों के लिए गर्मियां बहुत तकलीफदेह होती हैं इसलिए कुछ आसान उपाय करके हम अपने पालतू ...

यह 6 रसीले फल गर्मियों में देंगे सेहत और सुंदरता

यह 6 रसीले फल गर्मियों में देंगे सेहत और सुंदरता
जानिए गर्मी के मौसम में आने वाले उन फलों को, जो गर्मी में रखते हैं हमारा ध्यान -

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

वेदों के ज्ञाता श्री रामानुजाचार्यजी का जीवन परिचय

वेदों के ज्ञाता श्री रामानुजाचार्यजी का जीवन परिचय
श्री रामानुजाचार्य का जन्म सन् 1017 में श्री पेरामबुदुर (तमिलनाडु) के एक ब्राह्मण परिवार ...

हैंड ड्रायर का गंदा सच

हैंड ड्रायर का गंदा सच
अक्सर कहा जाता है कि अपने हाथों को फ्लू और अन्य वायरस से बचाने और साफ-सुथरा रखने के लिए ...

खूबसूरत बालों के लिए जरूरी है यह 10 पोषक आहार

खूबसूरत बालों के लिए जरूरी है यह 10 पोषक आहार
शरीर में बालों से संबंधित पोषक तत्वों की कमी से ही बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं और जब तक ...

मांग में सिंदूर क्यों सजाती हैं विवाहिता?

मांग में सिंदूर क्यों सजाती हैं विवाहिता?
मांग में सिंदूर सजाना एक वैवाहिक संस्कार है। सौभाग्यवती स्त्रियां मांग में जिस स्थान पर ...