महारानी त्रिशला ने देखे थे ये 16 शुभ स्वप्न...

शनिवार,अप्रैल 8, 2017
महावीर कहते हैं कि धर्म सबसे उत्तम मंगल है। अहिंसा, संयम और तप ही धर्म है। महावीरजी कहते हैं- 'जो धर्मात्मा है, जिसके ...
संपूर्ण भारत में जैन धर्म के पवित्र स्थानों में से एक मंदिर राजस्थान में 'श्री महावीरजी' नाम से प्रसिद्ध है। यह मंदिर ...
पुष्कलावती नामक देश के एक घने वन में भीलों की एक बस्ती थी। उनके सरदार का नाम पुरूरवा था। उसकी पत्नी का नाम कालिका था। ...
जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जीवन ही उनका संदेश है। उनके सत्य, अहिंसा, अपरिग्रह, ब्रह्मचर्य और ...
Widgets Magazine
महावीर स्वामी का प्रमुख संदेश था, 'जिओ और जीने दो'। उन्होंने जैनियों के तीन प्रमुख लक्षण बतलाए है, जो निम्न हैं...
जय महावीर प्रभो, स्वामी जय महावीर प्रभो। कुंडलपुर अवतारी, त्रिशलानंद विभो॥ ॥ ॐ जय.....॥ सिद्धारथ घर जन्मे, वैभव था ...
महावीर को तप करते हुए 12 वर्ष व्यतीत हो गए। एक बार गहरी तप-साधना के बाद महावीर थककर चूर हो गए थे। थकान के कारण रात्रि ...

महावीर स्वामी के 8 अनमोल वचन

शुक्रवार,अप्रैल 7, 2017
भगवान महावीर स्वामी का जीवन त्याग और तपस्या से ओतप्रोत है। वे जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर हैं। पूरी दुनिया को उन्होंने ...
Widgets Magazine
वर्द्धमान, सन्मति, वीर, अतिवीर और महावीर ये जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर के नाम हैं। उनके पिता सिद्धार्थ तथा माता का नाम ...

भगवान महावीर के 34 भव जानिए...

गुरुवार,अप्रैल 6, 2017
भगवान महावीर स्वामी के चौंतीस भव (जन्म) इस प्रकार हैं।
चैत्र शुक्ल त्रयोदशी को भगवान महावीर का जन्म कल्याण है। उनके सिद्धांत बताते हैं कि वर्तमान के वर्तन (व्यवहार) को किस ...
यदीये चैतन्ये मुकुर इव भावाश्चिदचितः समं भान्ति ध्रौव्य व्यय-जनि-लसन्तोऽन्तरहिताः। जगत्साक्षी मार्ग-प्रकटन परो भानुरिव ...
दोहा- सिद्ध समूह नमों सदा, अरु सुमरूं अरहन्त। निर आकुल निर्वांच्छ हो, गए लोक के अंत ॥ मंगलमय मंगल करन, वर्धमान महावीर। ...
बहुत से इतिहासकारों एवं विद्वानों ने भगवान महावीर को जैन धर्म का संस्थापक माना है। भगवान महावीर जैन धर्म के प्रवर्तक ...
24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का चरण चिह्न सिंह (वनराज) है। सिंह अपने बल पर जंगल का राजा होता है, अपने क्षेत्र में ...
चैत्र शुक्ल त्रयोदशी को भगवान महावीर का जन्म कल्याणक है। उनके सिद्धांत बताते हैं कि वर्तमान के वर्तन (व्यवहार) को किस ...
पर्यावरण प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग के दौर में भगवान महावीर की प्रासंगिकता बढ़ गई है। भगवान महावीर को 'पर्यावरण पुरुष' ...
कल्पसूत्र के अनुसार भगवान महावीर 72 वर्ष जीवित रहे। उत्तर पुराण के अनुसार वे 72वें वर्ष में कुछ माह तक ही जीवित रहे। ...
महावीर जयंती ऐसा प्रसंग है जो हमें भगवान महावीर के जीवन की शिक्षाओं पर विचार करने का अवसर देता है। चूंकि बीते वर्षों ...