घर में शौचालय नहीं तो जाएगी नौकरी...

भिंड| पुनः संशोधित गुरुवार, 12 अक्टूबर 2017 (11:02 IST)
भिंड। मध्यप्रदेश के चंबल संभाग के जिले में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ एवं समग्र स्वच्छता अभियान के तहत जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सभी परिवारों के यहां का निर्माण कर उसका उपयोग अनिवार्य किया गया है।
 
इस दिशा में कलेक्टर इलैया राजा टी ने आदेश जारी कर कहा है कि जिन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के घरों में शौचालय नहीं बना है तो उनकी सेवाएं समाप्त कर दी जाएंगी।
 
आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास भिंड रामनिवास बुधौलिया ने बताया कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और समग्र स्वच्छता अभियान को गति प्रदान करने की दिशा में जिले की प्रत्येक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के घर में शौचालय होना अनिवार्य है।
 
इस दिशा में जिले के परियोजना अधिकारी और सुपरवाइजरों को समस्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के घर शौचालय बनवाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही उनको सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के शौचालय होने का प्रमाणीकरण देने की हिदायत दी है।
 
इसी प्रकार जिले की ऐसी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका के घर शौचालय निर्मित नहीं पाया जाता है। तो उनकी सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी जाएगी। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :