'करो या मरो' के मुकाबले में उतरेगा पंजाब

मुंबई| पुनः संशोधित बुधवार, 10 मई 2017 (17:43 IST)
मुंबई। आईपीएल-10 के प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही अपने अगले मुकाबले में शीर्ष टीम के खिलाफ 'करो या मरो' के मुकाबले में उतरेगी।
पंजाब ने पिछले मैच में मोहाली में को दमदार प्रदर्शन से 14 रनों से हरा दिया था और अपनी उम्मीदों को कायम रखा था। लेकिन अभी भी पंजाब की स्थिति काफी नाजुक है, जो 12 मैचों में 12 अंकों के साथ 5वें स्थान पर है।

मुंबई पहले ही प्लेऑफ में जगह पक्की कर चुकी है और सर्वाधिक 18 अंकों के साथ शीर्ष पर है इसलिए परिणाम के लिहाज से यह मैच उसके लिए बहुत अहम न हो लेकिन वह पंजाब का खेल जरूर बिगाड़ सकती है।
पंजाब के लिए अब लीग में बचे हुए दोनों शेष मैच जीतना अनिवार्य हो गया है और साथ ही उसे अपना नेट रनरेट भी काफी अच्छा रखना होगा, क्योंकि चौथे नंबर की टीम सनराइजर्स हैदराबाद से फिलहाल उसकी सीधी जंग चल रही है जिसका लीग में अब 1 ही मैच बचा है।

उतार-चढ़ाव से गुजरने के बाद ग्लेन मैक्सवेल की इस टीम ने काफी जज्बा दिखाया है और केकेआर के खिलाफ डैथ ओवरों में किफायती गेंदबाजी से करीबी जीत अपने नाम कर ली। हालांकि पंजाब के खिलाड़ियों में निरंतरता की कमी दिखती है लेकिन उसके पास कप्तान मैक्सवेल, शॉन मार्श, रिद्धिमान साहा, मार्टिन गुप्तिल जैसे अच्छे बल्लेबाज हैं जबकि संदीप शर्मा, मोहित शर्मा और अक्षर पटेल उसके बेहतरीन गेंदबाज हैं।

केकेआर के खिलाफ स्पिनर राहुल तेवतिया ने उसके शीर्ष स्कोरर कप्तान गौतम गंभीर और रॉबिन उथप्पा को 8 और शून्य के स्कोर पर आउट कर पंजाब को सबसे बड़ी राहत दिलाई थी और उम्मीद रहेगी कि मुंबई की जबरदस्त बल्लेबाजी क्रम के खिलाफ भी पंजाब के गेंदबाज इसी तरह का प्रदर्शन दिखाते हैं।

पंजाब को गुजरात लॉयंस से मिली अप्रत्याशित हार की वजह से उसके समीकरण पर असर पड़ा है और निश्चित ही उसके खिलाड़ी मुंबई के खिलाफ अपनी बची उम्मीदों को बनाए रखने के लिए पूरी कोशिश करेंगे।

ऑलराउंडर और कप्तान मैक्सवेल ने बल्ले से अच्छा खेल दिखाया है और मुंबई के खिलाफ पिछले मैच में भी अहम पारी खेली थी लेकिन उनकी बल्लेबाजी में भी निरंतरता की कुछ कमी है। पंजाब के लिए मुंबई जैसी मजबूत टीम के खिलाफ बोर्ड पर बेहतर स्कोर बनाना भी चुनौती रहेगी।

रोहित शर्मा की कप्तानी में 2 बार चैंपियन का खिताब जीत चुकी मुंबई तालिका में शीर्ष पर है और फिलहाल कोई अन्य टीम उसे नंबर 1 से हटाने की स्थिति में नहीं दिखती है। मुंबई ने अपना पिछला मैच सनराइजर्स हैदराबाद से 7 विकेट से हारा था। टीम के सलामी बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने कहा था कि प्लेऑफ से पहले इस हार ने टीम को वापस आक्रामकता दिखाने के लिए जगाया है।
मुंबई का वैसे भी घरेलू मैदान पर अच्छा रिकॉर्ड रहा है और वह भी मनोबल ऊंचा करने के लिए खेलेगी। चैंपियंस ट्रॉफी टीम में शामिल किए गए रोहित पिछले मैच में 67 रन बनाकर सर्वश्रेष्ठ स्कोरर थे लेकिन टीम के पास पटेल, नीतीश राणा, हार्दिक, कीरोन पोलार्ड जैसे बढ़िया बल्लेबाज और हरभजन सिंह, लसिथ मलिंगा, जसप्रीत बुमराह, कुणाल और हार्दिक जैसे बेहतरीन गेंदबाज हैं और उसके लिए जीत की पटरी पर लौटना मुश्किल नहीं होगा। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :