आपको याद दिला देंगे ये गेम्स आपका बचपन


कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिनका नाम सुनते ही आंखों के सामने से पूरा बचपन गुजर जाता है। एक बार फिर याद आ जाता है कि आपके बचपन के दिन कितने सुहाने थे। ऐसे लोग जिनका बचपन अस्सी और नब्बे के दशक में बीता है, थे बहुत ही निराले और मजेदार। 
 
 
आज के दौर की तरह तब कंपनियों का दिमाग लगे हुए मनोरंजन के साधन नहीं थे बल्कि बच्चों द्वारा सोचे और खोजे गए खेलों से ही बच्चे जमकर खुश रहते थे। एक दूसरे के साथ बैठे हुए या दौड़ते हुए, उस दौर के बच्चों को जो आनंद आता था वह अब नामुमकिन लगता है। आइए फिर याद करें उन खेलों की जिन्होंने हमारे बचपन को बना दिया सुनहरा समय। जिनमें से कुछ आज के बच्चों को पता है वहीं कुछ अब बिल्कुल ही गायब हो चुके हैं। 
 
1. छुपमछाई या हाइड एंड सीक : छुपमछाई सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि लगभग सारी दुनिया के बच्चे खेलते आए हैं। लुका छिपी के नाम से खेले जाने वाले इस खेल की खासियत थी कि इसे घर के अंदर और बाहर कहीं भी खेला जा सकता था। सभी बच्चे अपने हिसाब से छुपते थे कि जबकि कोई एक उन्हें खोजता था। छुपने के लिए जगह का दायरा निश्चित होता था। 
 
2. पव्वा या हॉपस्कॉच और चॉकलेट : जहां कुछ खेल लड़कियों और लड़कों द्वारा समान रूप से खेलें जाते थे वहीं कुछ खेल खासतौर पर लड़कियों की पसंद थे। जमीन पर कुछ आकृतियां बनाकर, कूदने वाले खेल खासतौर पर लड़कियों के गेम्स थे। ऐसे ही खेल थे पव्वा और चॉकलेट। पव्वा में कुल 10 बॉक्स, पांच पांच के सेट में बनते थे। जिन्हें घर कहा जाता था। इस गेम में पत्थर फेंककर एक घर घेरना होता था और इसके बाद पूरे 10 बॉक्स से उछलकर गुजरना होता था। चॉकलेट का पैटर्न ऐसा ही था परंतु आकृति का स्ट्र्क्चर बदल जाता था। 
 
अगले पेज पर सोलह सार का रहस्यमयी संसार ..... 
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

किसे पकाएं, किसे कच्चा खाएं, आओ इसका पता लगाएं

किसे पकाएं, किसे कच्चा खाएं, आओ इसका पता लगाएं
आपका बढ़ा वज़न जब भी तंग करने लगा तो सलाद से इसे कम करने की सोच रहे हैं। ख्याल अच्छा है ...

ऐसे दें अपने घर को एस्ट्रो टच

ऐसे दें अपने घर को एस्ट्रो टच
घर सजा कर रखना किसे पसंद नहीं होता लेकिन यदि घर कि सजावट ज्योतिष व एस्ट्रो के अनुरुप हो ...

4 वेद और 3 देव का जो अर्थ है वही गायत्री मंत्र है, पढ़ें ...

4 वेद और 3 देव का जो अर्थ है वही गायत्री मंत्र है, पढ़ें विशेष लेख
‘गायत्री वेदों की जननी है। गायत्री पापों का नाश करने वाली है। गायत्री से अन्य कोई पवित्र ...

क्या पीरियड में कॉफी पीना चाहिए?

क्या पीरियड में कॉफी पीना चाहिए?
कॉफी आपके डेली रुटीन का हिस्सा हो चुकी है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि असल में कॉफी आपको ...

वक्त रहते अपनों की अहमियत समझें

वक्त रहते अपनों की अहमियत समझें
अक्सर ऐसा होता है कि हम अपने दोस्तों, ऑफिस के लोगों, सहकर्मियों की तो बहुत इज्जत करते हैं ...

रामायण काल में थीं ये विचित्र किस्म की प्रजातियां, ...

रामायण काल में थीं ये विचित्र किस्म की प्रजातियां, वैज्ञानिक रहस्य जानकर चौंक जाएंगे
भगवान राम का काल ऐसा काल था जबकि धरती पर विचित्र किस्म के लोग और प्रजातियां रहती थीं, ...

करोड़पति बनने और अपार धन कमाने के 4 आसान टोटके, पढ़‍िए और ...

करोड़पति बनने और अपार धन कमाने के 4 आसान टोटके, पढ़‍िए और आजमाएं...
सदियों से चली आ रही भारतीय परंपरा में कुछ ऐसे भी टोटके हैं जो आसान प्रयास से अचूक असरकारी ...

क्रौंच पक्षी वध से द्रवित होकर वाल्मीकि के मुंह से निकला ...

क्रौंच पक्षी वध से द्रवित होकर वाल्मीकि के मुंह से निकला रामायण का ये पद
मनुष्य ने पहली कविता कब लिखी, यह बता पाना बहुत कठिन है। परन्तु, संस्कृत के आदि कवि ...

पूजा सुपारी के 10 ऐसे उपाय, जो बदल देंगे आपके मुसीबत के ...

पूजा सुपारी के 10 ऐसे उपाय, जो बदल देंगे आपके मुसीबत के दिन, पढ़ें जरूर...
जब कोई तीर्थ यात्रा पर जाए तो उसके सकुशल वापिस आने तक तुलसी के गमले में सुपारी गाड़ दें। ...

बुध का कर्क में गोचर, जानिए क्या होगा 12 राशियों पर असर...

बुध का कर्क में गोचर, जानिए क्या होगा 12 राशियों पर असर...
बुध ज्ञान का कारक शत्रु चन्द्र की राशि कर्क में 25 जून, सोमवार से आ रहा है, इसके साथ ही ...