Widgets Magazine

दिल्ली के गंभीर के सामने दिल्ली डेयरडेविल्स की चुनौती

नई दिल्ली| पुनः संशोधित रविवार, 16 अप्रैल 2017 (14:48 IST)
नई दिल्ली। अपने घरेलू फिरोजशाह कोटला मैदान पर शानदार जीत दर्ज करने के बाद सोमवार को यहां दिल्ली के लाडले गौतम गंभीर की अगुवाई वाले को के मुकाबले में कड़ी चुनौती देने के इरादे से उतरेंगे। 
 
दिल्ली डेयरडेविल्स ने शनिवार को अपने पिछले मुकाबले में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही क्षेत्रों में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब को 51 रन से धूल चटाई थी। दूसरी तरफ नाइटराइडर्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 17 रन से शिकस्त दी थी। दिल्ली के गंभीर अपने घरेलू कोटला मैदान में जब खेलने उतरेंगे तो यह देखना दिचस्प होगा कि दिल्ली वालों का ज्यादा समर्थन किसके साथ रहता है- गंभीर या डेयरडेविल्स। 
 
गंभीर ने अपना लंबा समय इस मैदान पर गुजारा है लेकिन पिछले घरेलू सत्र में गंभीर को विजय हजारे ट्रॉफी में दिल्ली की कप्तानी से हटा दिया गया था और 19 साल के ऋषभ पंत को दिल्ली की कप्तानी सौंपी गई थी। ऋषभ पंत इस समय दिल्ली की टीम का हिस्सा हैं। 
 
जहीर की अगुवाई में दिल्ली की टीम के प्रदर्शन में खास सुधार देखने को मिला है और पिछले 3 मैचों में से 2 मैचों में दिल्ली ने जो जीत दर्ज की है उसमें टीम के कप्तान जहीर खान के प्रेरणादायी नेतृत्व का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। जहीर जैसे नेतृत्व की स्थिति गंभीर के साथ भी है। आईपीएल में कोलकाता को 2 बार चैंपियन बना चुके गंभीर शाहरुख खान की इस टीम की सबसे बड़ी ताकत हैं। वह कप्तानी और बल्ले से टीम को लगातार प्रेरित कर रहे हैं।
 
दिल्ली ने पंजाब के खिलाफ 188 रन का मजबूत स्कोर बनाया था और उसकी 51 रन की जीत में टीम के विदेशी खिलाड़ियों का योगदान महत्वपूर्ण रहा था। सैम बिलिंग्स ने 55, कोरी एंडरसन ने नाबाद 39 बनाने के अलावा एक विकेट और क्रिस मोरिस ने 16 रन बनाने के अलावा 3 विकेट हासिल किए थे। चौथे विदेशी खिलाड़ी पैट कमिंस ने नाबाद 12 रन बनाने के अलावा 2 विकेट भी लिए थे।
 
दिल्ली के विदेशी खिलाड़ियों ने अपना काम बखूबी किया है और कप्तान जहीर को उम्मीद रहेगी कि टीम के भारतीय खिलाड़ी संजू सैमसन, करुण नायर, श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत भी अपनी जिम्मेदारी का दायरा बढ़ाएं। पंजाब के खिलाफ 2 विकेट लेने वाले झारखंड के लेग स्पिनर शाहबाज नदीम ने घरेलू सत्र के अपने शानदार प्रदर्शन को आईपीएल में भी बरकरार रखा है। नदीम के शुरुआती 2 झटकों से ही पंजाब की टीम बैकफुट पर आ गई।
 
गंभीर का वेस्टइंडीज के सुनील नरायण को ओपनिंग में उतारने का दांव एक बार कामयाब रहा था लेकिन हैदराबाद के खिलाफ नरायण सस्ते में आउट हो गए थे। मैच में राबिन उथप्पा ने मैच विजयी अर्द्धशतक जड़ा था। यह देखना दिलचस्प होगा कि गंभीर लगातार तीसरी बार नरायण पर दांव खलते हैं या फिर उथप्पा को ओपनिंग में लाते हैं? गंभीर कोटला की परिस्थितियों को सबसे बेहतर तरीके से जानते हैं और उसी के अनुसार अपनी रणनीतियों को अंजाम देंगे।
 
कोलकाता का गेंदबाजी आक्रमण तेज गेंदबाज उमेश यादव और ट्रेंट बोल्ट तथा स्पिनर सुनील नरायण और कुलदीप यादव की मौजूदगी में काफी सशक्त नजर आता है। दिल्ली के पास जहां अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा और लेफ्ट आर्म स्पिनर नदीम हैं वहीं कोलकाता के पास उंगलियों के स्पिनर सुनील नरायण और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव हैं। इन स्पिनरों की श्रेष्ठता मैच में फैसले के लिए निर्णायक होगी।
 
यह मुकाबला दिल्ली कोलकाता से ज्यादा दिल्ली के गंभीर और दिल्ली वालों के बीच होगा। दिल्ली वालों का समर्थन जिसे भी मिलेगा वही टीम इसे जीतने में कामयाब रहेगी। (वार्ता)
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine