मुकेश अंबानी भारत के सर्वाधिक धनवान

न्यूयॉर्क| भाषा| पुनः संशोधित मंगलवार, 4 मार्च 2014 (18:27 IST)
FILE
न्यूयॉर्क। उद्योगपति मुकेश अंबानी का लगातार सातवें साल के सबसे अमीर व्यक्ति का खिताब बरकरार रहा लेकिन दुनियाभर के सबसे अमीर लोगों में उनका स्थान पिछले आठ साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया।

फोर्ब्‍स की अमीरों की ताजातरीन सूची में अंबानी 18.6 अरब डॉलर की निवल संपत्ति के साथ दुनियाभर के अमीरों की सूची में 40वें स्थान पर रहे लेकिन भारतीय अमीरों में वे पहले नंबर पर बने हुए हैं।

वर्ष 2006 में अंबानी दुनिया के अमीरों की सूची में 56वें स्थान पर रहे थे, तब उनकी संपत्ति 8.5 अरब डॉलर रही थी। यह पहला साल था जब के विभाजन के बाद मुकेश और उनके छोटे भाई अनिल अंबानी की संपत्ति को अलग-अलग दिखाया गया।
मुकेश अंबानी की संपत्ति वर्ष 2008 में 43 अरब डॉलर तक पहुंच गई थी, तब दुनियाभर के अमीरों में उनका 5वां स्थान था। उसके मुकाबले आज उनकी संपत्ति काफी घटकर 18.6 अरब डॉलर रह गई। वर्ष 2008 में ही मुकेश अंबानी पहली बार दुनिया के 10 सबसे धनी व्यक्तियों की सूची में शामिल हुए थे और 2011 तक पहले दस में शामिल रहे थे।

फोर्ब्‍स ने कहा, 2008 में 43 अरब डॉलर की संपत्ति और विश्व के पांचवें सबसे अमीर व्यक्ति रहे मुकेश की संपत्ति में उसके बाद से भारी गिरावट हुई और उसमें सिर्फ पिछले साल ही 2.9 अरब डॉलर की गिरावट आई। इसके बावजूद फोर्ब्‍स ने कहा कि मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति हैं और अभी भी आगे बढ़ने की तैयारी में हैं। अंबानी की अगले दो साल में अपने कारोबार में 25 अरब डॉलर के निवेश की योजना है।
फोर्ब्‍स ने कहा, अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के केजी-डी6 तेल क्षेत्र से जुड़े विवादों को लेकर काफी चर्चा में रहे हैं। गैस के दाम बढ़ने के बाद अब इस क्षेत्र से उन्हें काफी फायदा मिलने वाला है। लक्ष्मी मित्तल की कंपनी आर्सेलर मित्तल पर भी कमजोर मांग और भारी ॠण का असर रहा लेकिन वह विश्व की सबसे बड़ी इस्पात निर्माता बनी रही।
कंपनी को 2013 में 2.5 अरब डॉलर का नुकसान हुआ, जो इसके पिछले साल के मुकाबले कम है। इसका श्रेय खर्च में कटौती से जुड़ी पहलों को जाता है। फोर्ब्‍स के मुताबिक अर्थव्यवस्था में नरमी और रुपए में गिरावट से भारतीय अरबपतियों की संपत्ति पर असर हुआ।

फोर्ब्‍स की 2014 की सूची में भारत के 56 अरबपति शामिल हैं, जिनकी कुल संपत्ति 191.5 अरब डॉलर है जो पिछले साल के दर्ज 55 अरबपतियों की कुल संपत्ति 193.6 अरब डॉलर से कम है।
इस साल फोर्ब्‍स सूची से बाहर निकलने वालों में शशि और रवि रईया प्रमुख रहे जिन्हें डॉलर के लिहाज से सबसे अधिक 3.6 अरब डॉलर का नुकसान हुआ, क्योंकि लंदन में सूचीबद्ध एस्सार एनर्जी के शेयर लुढ़क गए। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :