बनारस में कुछ नहीं कर पाएंगे केजरीवाल...

WD

वेबदुनिया के संपादक जयदीप कर्णिक के साथ विशेष बातचीत में प्रो. पांडेय ने देश की वर्तमान राजनीतिक व्यवस्था पर खुलकर चर्चा की। जब उनसे पूछा कि अरविंद केजरीवाल एक व्‍यक्‍ति के तौर पर भले ही विफल हो गए हों लेकिन एक राजनीतिक एजेंडा जो उन्‍होंने शुरू किया है, लोग अभी भी उसमें विश्‍वास करते हैं? उन्होंने कहा- इसी कारण दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी की सरकार आई, जब तक बड़ी वैचारिक और सांस्‍कृतिक लहर नहीं आएगी परिवेश को बदला नहीं जा सकता। जिन वर्गों को केजरीवाल जोड़ रहे हैं वे ही अभी इसके आदि नहीं है, वे घूस देकर अपना काम करवा लेंगे।

विस्तृत साक्षात्कार के लिए देखें वीडियो....


चुनाव में वोटों के ध्रुवीकरण से जुड़े सवाल पर प्रोफेसर पांडेय कहते हैं कि इस चुनाव में 100 प्रतिशत धुव्रीकरण नहीं हो रहा है, यहां तक कि मुसलमानों में भी शत प्रतिशत धुव्रीकरण नहीं हो सकता। नया मुसलमान धार्मिक राजनीति से इत्तफाक नहीं रखता। मुलायमसिंह और आजम खान जो कर रहे हैं, जितनी धार्मिक राजनीति वे कर सकते थे, उन्‍होंने की मगर अब यह काम नहीं करने वाला। नई पीढ़ी के सोचने का नजरिया अलग है। हमारा लड़का भी आज हमारी बात ही नहीं मानता।
Author जयदीप कर्णिक|
बनारस। हिन्दू विश्वविद्यालय के प्रो. विश्वनाथ पांडेय का मानना है कि बनारस में कुछ नहीं कर पाएंगे न ही उनका असर में होने वाला है। लोग स्वस्थ राजनीति की अपेक्षा करते हैं, लेकिन केजरीवाल ने जनता को निराश किया है।

मोदी के बारे में क्या बोले प्रो. पांडे... पढ़ें अगले पेज पर...


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :