कपिल शर्मा पर शनि की दशा भारी, शनि ने ही किया था मालामाल...


 
* कपिल शर्मा के लिए कष्टकारी रहेंगे आगामी 3 वर्ष...
में सबसे माने जाते हैं। उनकी कृपा जहां जातक को सुख-समृद्धि और ऐश्वर्यपूर्ण जिंदगी दिलाती है, वहीं उनकी वक्र दृष्टि कंगाल बना सकती है। जनवरी माह में शनि की दशा बदली है और इसकी वजह से अधिकांश लोगों के जीवन में बदलाव हुआ है। ये परिवर्तन स्थान, धन-लाभ-हानि और अन्य कई प्रभाव जातकों के जीवन में उथल-पुथल कर रहे हैं।  > ऐसे ही परिवर्तन का प्रभाव हुआ है मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा पर। दरअसल, कपिल शर्मा का जन्म कुंभ राशि में हुआ है और उनकी कुंडली का स्वामी बुध है, जो जन्म स्थान का भी स्वामी है, परंतु भाग्य का स्वामी शनि है।> इस पत्रिका के अनुसार कपिल की सफलता में भाग्य स्थान के स्वामी शनि तथा कुंडली के स्वामी बुध ने उन्हें इतना नाम, पैसा, प्रसिद्धि और शोहरत दिलाई है। 
 
उल्लेखनीय है कि कुंडली में स्वामी बुध ग्रह होने से जातक को तर्क-वितर्क में विशेष रुचि होती है। माना जाता है कि कवि, प्रखर प्रवक्ता, गायक तथा नेताओं की पत्रिका में इस ग्रह का विशेष प्रभाव रहता है और कपिल की कुंडली में भाग्य स्वामी शनि ने उन्हें इतनी जल्दी इतनी बुलंदियों पर पहुंचाया है।
 
शनि की दशा ने ही कपिल का भाग्योदय किया है लेकिन शनि को शराब, जुएं और अन्य व्यसनों से घृणा है। जो भी जातक व्यसन करते हैं उन पर शनि जल्दी कुपित हो जाते हैं और जनवरी 2016 में शनि की दशा परिवर्तन से कपिल शर्मा का बुरा समय आरंभ हो गया है। 
 
आने वाले 3 वर्ष कपिल के अत्यंत कष्टकारी हैं, परंतु इसके बाद होने वाले बुध की दशा परिवर्तन से उनका फिर से शिखर पर जाना संभव है, परंतु उन्हें व्यसनों से मुक्त होना होगा अन्यथा शनि के कोप से बचना मुश्किल है।
 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

राशिफल

जन्मपत्रिका क्या है? और कैसे बताती यह आापका अतीत, वर्तमान ...

जन्मपत्रिका क्या है? और कैसे बताती यह आापका अतीत, वर्तमान और भविष्य...
शायद कभी आपके मन में यह सवाल भी आया हो कि आखिर क्या है ये जन्म पत्रिका जिसे जन्म कुंडली ...

सावन मास में पूरे समय जपते रहें यह छोटे-छोटे मंत्र, मिलेगा ...

सावन मास में पूरे समय जपते रहें यह छोटे-छोटे मंत्र, मिलेगा शिव पूजन का सारा पुण्य
अगर आप पूरे श्रावण मास में विधिवत पूजन का समय नहीं निकाल पा रहे हैं तो हम आपके लिए लाए ...

1 करोड़ कन्यादान के बराबर है 1 बिल्वपत्र को चढ़ाने का ...

1 करोड़ कन्यादान के बराबर है 1 बिल्वपत्र को चढ़ाने का पुण्य, जानिए कुछ और भी जरूरी बातें
बिल्वपत्र भोले-भंडारी को चढ़ाना एवं 1 करोड़ कन्याओं के कन्यादान का फल एक समान है।

जानिए कैसा है सूर्य का स्वभाव, क्या पड़ता है आप पर इसका ...

जानिए कैसा है सूर्य का स्वभाव, क्या पड़ता है आप पर इसका प्रभाव
ज्योतिष में जन्मपत्रिका, बारह राशियों एवं नौ ग्रहों का विशेष महत्व है. .. ये नौ ग्रह ...

13 से 19 अगस्त 2018 : साप्ताहिक राशिफल

13 से 19 अगस्त 2018 : साप्ताहिक राशिफल
अपने बड़ों के सपनों को पूरा करने के लिए तत्पर है। किसी कारणवश आप खुद को राह से भटका हुआ ...

नागपंचमी पर ऐसे करें नागपूजन और विसर्जन, पढ़ें विशेष ...

नागपंचमी पर ऐसे करें नागपूजन और विसर्जन, पढ़ें विशेष प्रार्थना और मंत्र...
नागपंचमी के दिन प्रात:काल स्नान करने के उपरान्त शुद्ध होकर यथाशक्ति (स्वर्ण, रजत, ताम्र) ...

17 अगस्त को हो रहा है सूर्य का राशि परिवर्तन, जानिए किन ...

17 अगस्त को हो रहा है सूर्य का राशि परिवर्तन, जानिए किन राशि‍यों की बदलने वाली है किस्मत ...
सूर्यदेव नवग्रहों के राजा हैं। सिंह राशि के स्वामी हैं। अग्नितत्व प्रधान ग्रह हैं। कुंडली ...

15 अगस्त पर लाल किले की प्राचीर से हो सकती है ये घोषणाएं, ...

15 अगस्त पर लाल किले की प्राचीर से हो सकती है ये घोषणाएं, जानें क्या कहता है ज्योतिष
देश के लिए 15 अगस्त, बुधवार के दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लाल किले की प्राचीर से कई ...

जानिए श्रावण में क्यों आती है नागपंचमी, और क्यों चढ़ाते हैं ...

जानिए श्रावण में क्यों आती है नागपंचमी, और क्यों चढ़ाते हैं नाग देवता को दूध?
नाग पंचमी का पवित्र त्योहार 15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की ...

आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा सूर्य का स्वराशि सिंह में ...

आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा सूर्य का स्वराशि सिंह में प्रवेश (पढ़ें 12 राशियां)
ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है। सूर्य मनुष्यों की जीवनी शक्ति ...