एनडीए से पाएं गौरवपूर्ण करियर

वेबदुनिया डेस्क

WD|
FILE
देश की सेवा करने का जज्बा मन में रखने वाले युवाओं के लिए एक शानदार और सम्मानजनक करियर विकल्प। सारे विश्व में भारतीय सेना को सम्मान की नजरों से देखा जाता है। जिन युवाओं में देशसेवा का भी जज्बा है, उनके लिए एनडीए (नेशनल डिफेंस अकादमी) एक अच्छा विकल्प है।

भारतीय सेना में शामिल होकर देश सेवा करना हर युवा की लिए गौरव की बात होती है। सेना के तीनों विंग्स में प्रवेश के लिए पहला पायदान है एनडीए की परीक्षा। संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएसी) द्वारा हर वर्ष दो बार एनडीए की परीक्षा आयोजित की जाती है। एनडीए की परीक्षा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं से काफी अलग होती है। अन्य परीक्षाओं में जहां प्रतिभागियों की मानसिक मजबूती देखी जाती है, तो वहीं इस परीक्षा में शारीरिक और मानसिक दोनों को परखा जाता है। इस परीक्षा को पास करने एनडीए अकादमी ट्रेनिंग के बाद कम उम्र में ही युवा भारतीय सेना सैन्य अधिकारी बन जाते हैं।
एनडीए की परीक्षा में शामिल होने के लिए योग्यता है आप भारत देश के नागरिक हों, अविवाहित हों। उम्र 16 से 19 वर्ष के बीच हो। वायुसेना और नौसेना विंग के लिए 12वीं में फिजिक्स और गणित होना आवश्यक है, वही आर्मी विंग के लिए किसी भी विषय में 12वीं पास शैक्षणिक योग्यता होना चाहिए।

एनडीए की परीक्षा में शामिल होने के मेडिकली फिट होना जरूरी है। ऊंचाई कम से कम 157.5 सेमी होना चाहिए। पहले परीक्षार्थी को लिखित परीक्षा से गुजरना पड़ता है। लिखित परीक्षा पास करने के बाद इंटरव्यू के लिए चुना जाता है।
एनडीए परीक्षा में दो प्रश्न पत्र होते हैं इंटरव्यू में कैंडिडेट की मेंटल स्ट्रेंथ को परखा जाता है। इंटरव्यू को क्लीयर करने के बाद मेडिकल परीक्षा होती है। मेडिकल में सफल होने के बाद एनडीए में प्रवेश मिल जाता है। एनडीए में प्रवेश के बाद होती है ट्रेनिंग की शुरुआत। तीन साल की कड़ी ट्रेनिंग के बाद आपको ग्रेज्युएशन की डिग्री दी जाती है। डिग्री मिलने के बाद सेना में बतौर लेफ्टिनेंट का पद मिलता है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :