धड़क ट्रेलर रिव्यू : बॉलीवुड फॉर्मूलों में जकड़ी फिल्म

फिल्म को लेकर इतना कुछ लिखा जा रहा है मानो बॉलीवुड को दो सुपर सितारे इस फिल्म से मिलने वाले हो। मराठी फिल्म 'सैराट' का हिंदी रिमेक करण जौहर ने बनाया है जिसमें श्रीदेवी की बेटी अपने करियर की शुरुआत करने जा रही हैं।

फिल्म के रिलीज होने के पहले ही श्रीदेवी की मृत्यु हो गई है। लोगों में उपजी हमदर्दी का लाभ 'जाह्नवी' को मिल सकता है क्योंकि लोग फिल्म का टिकट खरीदकर श्रीदेवी को श्रद्धांजलि दे सकते हैं।

फिल्म में नायक हैं जिन्हें हम 'बियॉण्ड द क्लाउड्स' में देख चुके हैं। माजि़द मजीदी की इस फिल्म में ईशान ने बेहतरीन अभिनय किया था।



धड़क का देख यह टिपीकल बॉलीवुड मूवी लगती है जो बॉलीवुड फॉर्मूलों से जकड़ी हुई है। निचले तबके से आया लड़का, जिसमें देसीपन है। लड़की अंग्रेजी बोलती है। दोनों में आर्थिक अंतर नजर आता है। लड़की का लड़का पीछा करता है और शुरुआती नखरों के बाद लड़की मान जाती है। हीरो के साथ उसके दो दोस्त। फिल्म में ट्विस्ट और टर्न देने के लिए कुछ विलेन हैं और क्लाइमैक्स में लोगों को चौंकाने वाला नजारा। कुछ नई बात नजर नहीं आई।

जहां तक स्क्रीन प्रजेंस का सवाल है तो जाह्नवी में चमक नजर आती है, लेकिन एक्टिंग वैसी दमदार नजर नहीं आई। वैसे ट्रेलर देख राय तो नहीं बनाई जा सकती, लेकिन ध्यान देने वाली बात है कि ट्रेलर में फिल्म के सर्वश्रेष्ठ दृश्यों को रखा जाता है। ईशान ज्यादा नेचुरल नजर आए।


फिल्म का निर्देशन शशांक खेतान ने किया है जो हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया और बद्रीनाथ की दुल्हनिया बना चुके हैं। वे छोटे शहर और वहां की प्रेम कहानी को फिल्माने में माहिर हैं और कुछ इस तरह की कहानी 'धड़क' में नजर आ रही है।

धड़क का ट्रेलर को औसत माना जा सकता है। ईशान और जाह्नवी से ज्यादा शशांक ने निर्देशन पर भरोसा करना होगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपकी राय

धड़क का ट्रेलर आपको कैसा लगा?



और भी पढ़ें :