इसलिए न करें लूफाह का इस्तेमाल, जानें कारण


हर दिन आपका स्नान अलग प्रकार का होता है। पांच मिनिट, दस मिनिट, 15 मिनिट और घंटों का स्नान का उद्देश्य अलग होता है। कई दिन ऐसे होते हैं जब आप शरीर की गहरी सफाई चाहते हैं। ऐसे में कुछ चीजें खास मदद करती है। आपने अपने बाथरूम में कई ऐसी चीज़े रखी होंगी जिनका उपयोग आप कुछ खास दिनों में करते हैं और कुछ आती हैं रोज़ इस्तेमाल। लूफाह भी उनमें से एक है। आप लूफाह के इस्तेमाल के शौकिन हैं परंतु आगे की जानकारी पढ़ने के बाद आप के लूफाह इस्तेमाल न सिर्फ बचेंगे बल्कि इसे तुरंत ही फेंक देंगे। 
 
टीवी में कई ऐसे विज्ञापन आते हैं जिनमें मॉडल लिए भीनी भीनी खुशबू वाला बॉडीवाश लगाती है। लूफाह तुरंत ही सभी जगह की गहरी सफाई कर देता है परंतु इसका असर इससे है कहीं अधिक और खतरनाक भी। जानिए आखिर कैसे लूफाह आपकी खूबसूरत त्वचा की इच्छा पर पानी फेर रहा है और आपकी स्किन को गहरा पहुंचा रहा है 
 
क्यों करते हैं लूफाह का इस्तेमाल? 
लूफाह किसी जेल या बॉडीवाश लिक्विड को पूरी बॉडी पर आसानी से फैला देता है। इसके इस्तेमाल से बेहतर झाग बनता है। लूफाह खुरदुरापन लिए होता है इसलिए बॉडी पर स्क्रब की प्रक्रिया करता है। इससे शरीर के उपर की गंदगी निकल जाती है। लूफाह के इस्तेमाल से बेहतर सफाई की फीलिंग आती है। पसीने, मैल या अन्य गंदगी को लूफाह आसानी से साफ कर देता है। इसके अलावा शरीर पर फैलने वाले बैक्टेरिया से भी लूफाह निजात दिलाता है। 
 
क्यों पाएं लूफाह से आज ही निजात?
स्किन विशेषज्ञ और एक्सपर्ट साफतौर पर मान चुके हैं कि लूफाह का इस्तेमाल है अतिहानिकारक। इससे आपकी त्वचा को फायदे से कहीं अधिक नुकसान हो रहा है। 
 
क्यों हो रहा है लूफाह से त्वचा को नुकसान?
लूफाह पर जेल या लिक्विड फैलाने के बाद और पहले भी इसे गीला करना होता है। यह काफी देर तक गीला रहता है जिसके कारण इस पर बैक्टीरिया, कीटाणु और यीस्ट पैदा हो जाते हैं। 
 
किस तरह होता है त्वचा को नुकसान?
लूफाह में पैदा हो चुके बैक्टेरिया, कीटाणु और यीस्ट आपके शरीर में झाग के सहारे फैल जाते है। आप लूफाह का इस्तेमाल शरीर के हर अंग पर करते हैं जहां से बैक्टीरिया कभी कभी पानी के इस्तेमाल से खत्म नहीं होते और आगे फैलते हैं। इस तरह से स्किन इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। इंफेक्शन के अलावा आपकी त्वचा पर मुहांसे फुंसियां भी हो सकती है। 
 
लूफाह को चाहे रोज़ इस्तेमाल करें या कभी कभी, कुछ बातों का ध्यान रखकर आप इसका सुरक्षित इस्तेमाल कर सकते हैं। समस्या लूफाह में नमी के कारण पैदा होती है ऐसे में आप इसे पूरी तरह से सुखाएं। पंखे में और इससे भी बेहतर धूप में। धूप में लूफाह में पनपने वाले बैक्टेरिया खत्म हो जाएंगे और लुफाह का उपयोग सुरक्षित होगा। लूफाह को समय समय पर बदलें।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!
पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो यह एस्ट्रो टिप्स आपके लिए है
क्या आप भी संकोची हैं, अगर हां तो यह आलेख आपके लिए है...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों ...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों को नजरअंदाज करें, वरना हो सकती है बड़ी परेशानी
ये बीमारी भी ऐसे ही सामने नहीं आती। इसके भी लक्षण हैं जो आप और हम जैसे लोग अनदेखा करते ...

5 ऐसी चीजें जो लिवर की बीमारी को करती हैं दूर, एक बार पढ़ें ...

5 ऐसी चीजें जो लिवर की बीमारी को करती हैं दूर, एक बार पढ़ें जरूर
आप खाने के शौकीन हैं लेकिन क्या आप महसूस कर रहे हैं कि पिछले कुछ समय से आपका पाचन थोड़ा ...

दोमुंहे बालों से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो ये 4 तरीके ...

दोमुंहे बालों से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो ये 4 तरीके अपनाएं
जब बालों का निचला हिस्सा दो भागों में बंट जाता है, तब उसे बालों का दोमुंहा होना कहते हैं। ...

हिन्दी निबंध : क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद

हिन्दी निबंध : क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद
चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा नामक स्थान पर ...

स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद की जयंती

स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद की जयंती
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक आजाद 1920-21 के वर्षों में गांधीजी के असहयोग आंदोलन ...

सोशल मीडिया पर इन गलतियों से बचें

सोशल मीडिया पर इन गलतियों से बचें
सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म अपनी अलग-अलग खूबियां रखते हैं। उन सबका उद्देश्य भी अलग-अलग ...

अमेरिका में रह रहे सिखों के लिए खुशखबर, न्यूयॉर्क के ...

अमेरिका में रह रहे सिखों के लिए खुशखबर, न्यूयॉर्क के स्कूलों में सिख धर्म के बारे में होगी पढ़ाई
न्यूयॉर्क। अमेरिका में 70 प्रतिशत से ज्यादा नागरिकों को सिख धर्म की जानकारी नहीं होने के ...

जिम में 'आपका' वजन कम हो रहा है या 'जेब' का, फिटनेस का शौक ...

जिम में 'आपका' वजन कम हो रहा है या 'जेब' का, फिटनेस का शौक है तो एक नजर इस पर जरूर डालें
ज्यादातर लोग जिम का भरपूर फायदा नहीं उठा पाते। कारण होता है गलत जिम का चुनाव। सवाल है ...