Widgets Magazine

जून 2017 : जानिए, इस माह में किस राशि के चमक रहे हैं सितारे...

Author पं. हेमन्त रिछारिया|

 

 
* जून माह का मासिक राशिफल
 
इस माह सूर्य राशि में (दिनांक 15 से राशि में), मंगल मिथुन राशि में, बुध वृषभ राशि में (दिनांक 18 से मिथुन राशि में), गुरु कन्या राशि में, शुक्र मेष राशि में, शनि राशि में (वक्री), राहु राशि में, केतु राशि में संचरण करेंगे। 
 
चन्द्र- चन्द्र सवा दो दिन में अपनी राशि परिवर्तित करते हैं अत: चन्द्र की राशि स्थिति नहीं दी जा रही है।
 
वेबदुनिया विशेष : जानिए इस माह के शुभ योग-संयोग
 
 आइए जानें इस माह में किस राशि के चमक रहे हैं सितारे (राशि अनुसार) ... 
 
 
मेष
 
इस माह मेष राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर के अनुसार व्यापार व धन-संपत्ति में हानि का योग है। मित्रों व परिवारजनों से विवाद की आशंका है। सिर व आंखों में पीड़ा के कारण परेशानी रहेगी। चन्द्र के गोचर के अनुसार यात्रा में कष्ट व दुर्घटना की आशंका है। मन में अशांति व कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। धन का अपव्यय होगा। पेट रोग के कारण कष्ट होगा। मंगल के गोचर के अनुसार साहस व पराक्रम में वृद्धि होगी। शत्रु पराभव होगा। राज्याधिकारियों से लाभ होगा। बुध के गोचर के अनुसार धनहानि के योग हैं। कटु शब्दों के कारण विवाद होगा। रिश्तेदारों को हानि पहुंचेगी। बंधन का भय होगा। गुरु के गोचर के अनुसार पेट रोग के कारण कष्ट होगा। पुत्र से मतभेद व विवाद होगा। धन की कमी महसूस होगी। शुक्र के गोचर के अनुसार धनलाभ होगा। शत्रु परास्त होंगे। अविवाहितों का विवाह होगा। घर में संतान का जन्म होगा। व्यापार में लाभ होगा। विद्यार्थी वर्ग का विद्याध्ययन में मन लगेगा। स्त्री जाति से लाभ होगा। शनि के गोचर के अनुसार रोग व दु:ख में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्यों से उच्चाटन होगा। बंधु-बांधवों से विवाद होगा। आय व लाभ में कमी होगी। राजदंड, बंधन व लांछन के कारण सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल होगी। 
 
अनुकूल ग्रह- मंगल, शुक्र, राहु-केतु
प्रतिकूल ग्रह- सूर्य, चन्द्र, बुध, गुरु, शनि
उपाय- गुड़, मूंग दाल, चना दाल, किताबें व तेल का दान करें।
 
****** 
वृषभ
 
इस माह वृषभ राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर के अनुसार धनहानि के योग हैं। सम्मान व प्रतिष्ठा में कमी होगी। चन्द्र के गोचर के अनुसार परिजनों से विवाद होगा। अनिद्रा के कारण परेशानी होगी। जल व स्त्री जाति से हानि होने की आशंका है। मन में अवसाद रहेगा। मंगल के गोचर के अनुसार साहस में कमी आएगी। धननाश होगा। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। राज्य की ओर से दंड प्राप्त होगा। चारों से नुकसान की आशंका है। बुध के गोचर अनुसार मन चिंतित रहेगा। धनहानि होगी। सुख में कमी होगी। शत्रुओं के कारण हानि होगी। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। विवाद के कारण अशांति रहेगी। विद्यार्थियों को विद्याध्ययन में बाधाएं आएंगी। संबंधियों से विवाद होगा। गुरु के गोचर के अनुसार कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। व्यवसाय में लाभ होगा। घर में मांगलिक उत्सव होगा। पुत्र सुख प्राप्त होगा। लॉटरी इत्यादि से लाभ होगा। शुक्र के गोचर के अनुसार मित्रों से लाभ होगा। आर्थिक उन्नति होगी। भोग-विलास के संसाधनों की प्राप्ति होगी। उत्तम शैया सुख प्राप्त होगा। शनि के गोचर अनुसार धनहानि होगी। संपत्ति से नुकसान होगा। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। मान-प्रतिष्ठा की हानि होगी। राजदंड का भय होगा। जीवनसाथी का स्वास्थ्य खराब रहेगा। पुत्र सुख में कमी आएगी। लॉटरी इत्यादि से हानि होगी। गुप्त शत्रुओं के कारण कष्ट होगा।
 
अनुकूल ग्रह- गुरु, शुक्र 
प्रतिकूल ग्रह- सूर्य, चन्द्र, मंगल, बुध, शनि, राहु, केतु
उपाय- गुड़, मसूर की दाल, मूंग दाल, धार्मिक किताबें, सरसों का तेल व उड़द का दान करें।
 
****** 
 
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine