तुला राशि में आए शुक्र, किसके लिए शुभ, किसके लिए अशुभ

स्वराशिस्थ कहलाता है। शुक्र ने 3 नवंबर, शुक्रवार को तुला राशि में प्रवेश किया है। 26 नवंबर को 22.30 तक शुक्र यहीं रहेंगे। शुक्र धन, ऐश्वर्य, कला, सौन्दर्य का कारक है। तुला व वृषभ उसकी अपनी राशि हैं। मीन में उच्च का व कर्क में नीच का रहता है। शुक्र जब कुंडली में 1, 4, 7, 10 में हो तो मालव्य योग बनता है। जहां होता है, वहां से वह सातवें घर को देखता है।
आइए जानते हैं बारह राशियों पर प्रभाव-

मेष- अपने जीवनसाथी के द्वारा लाभ मिलेगा व दांपत्य जीवन में मधुर वातावरण रहेगा।
दैनिक व्यवसाय में उन्नति के योग हैं। स्वयं सौन्दर्य के प्रति आकर्षित होंगे। प्रेम के मामलों में वृद्धि होगी।

वृषभ- परिश्रम अधिक करना पड़ेगा। मानसिक चिंता का कारण भी रह सकता है। कर्ज की
स्थिति में सुधार होगा। नाना-मामा पक्ष से लाभ होगा। शत्रुपक्ष भी सहयोगी हो सकते हैं।
मिथुन- संतान के मामलों में खर्च होगा, वहीं संतान से प्रसन्नतादायक समाचार भी सुनेंगे।
मनोरंजन के मामलों में वृद्धि हो सकती है। आर्थिक मामलों में थोड़ी सावधानी रखना होगी।

कर्क- पारिवारिक मामलों में समय सुखद होकर लाभदायक भी रहेगा। संपत्ति के मामले
सुलझ सकते हैं। मातृपक्ष से लाभ, सेल्समैन भी लाभान्वित होंगे। कला से जुड़े लोग लाभान्वित होंगे।

सिंह- संचार माध्यम से शुभ समाचार मिलेगा। पराक्रम में वृद्धि होगी। भाइयों व मित्रों का साथ लाभकारी रहेगा। साझेदारी के मामलों में सफल होंगे। नौकरीपेशा भी स्वप्रयत्नों से लाभान्वित होंगे।
कन्या- धन की बचत के योग हैं। वाक्-चातुर्य से आप अपने कार्य में सफलता पाएंगे। कुटुम्ब के व्यक्तियों का सहयोग मिलेगा। भाग्य साथ देगा। नौकरीपेशा व्यस्तता पाएंगे।
अधिकारी वर्ग का सहयोग लेकर चलें।

तुला- प्रभाव में वृद्धि होगी वहीं सौन्दर्य के प्रति रुझान बढ़ेगा। सेक्स की इच्छा प्रबल होगी। दांपत्य जीवन में संतोषजनक वातावरण रहेगा। कला से जुड़े व्यक्तियों के लिए समय उत्तम रहेगा। फिजूलखर्ची से बचें।

वृश्चिक- बाहरी व्यक्तियों से सहयोग की उम्मीद रख सकते हैं। किसी महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग संभव हैं। कर्ज न लें तो ही ठीक रहेगा। शत्रुपक्ष से बचकर चलना लाभदायक रहेगा।

धनु- परिश्रम द्वारा आय में वृद्धि कर पाने में सफल होंगे। संतान पक्ष के मामलों में खर्च होगा। लेखन व प्रेम संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। किसी वाद-विवाद में न पड़ें।

मकर- व्यापार-व्यवसाय में अनुकूल वातावरण पाएंगे। नौकरीपेशा के लिए सुखद वातावरण के साथ लाभान्वित होंगे। किसी महत्वपूर्ण कार्य में पिता का सहयोग मिलेगा। पारिवारिक मामलों में संभलकर चलना होगा।
कुभ- सभी इच्छित कार्यों में सफलता मिलेगी। पारिवारिक प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। संपत्ति संबंधित समस्या का समाधान होगा। भाग्य साथ देने से रुके कार्य भी बनेंगे। व्यस्तता अधिक रहेगी।

मीन- सेक्स की प्रबल इच्छा होगी। भोग-विलास की ओर अधिक ध्यान जाएगा। धन व
कुटुम्ब के मामलों में संभलकर चलना होगा। वाणी में संयम रखकर चलें। कर्ज देने से
बचना होगा।

उपाय- शुक्र किसी को नुकसान दे रहा हो, जैसे धन का अपव्यय, फिजूलखर्च होना, अकस्मात धनहानि, इलेक्ट्रॉनिक सामान का बिगड़ना आदि तो ओपल 5 कैरेट का चांदी में बनवाकर शुक्रवार को लाभ के चौघडिया में पहनें। 5 साल से कम उम्र की कन्या को शुक्रवार के दिन खीर खिलाएं व कुछ दक्षिणा दें। शुक्रवार के दिन 1 चम्मच स्नान के जल में दही डालकर नहाएं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine

और भी पढ़ें :