सुर साधना है तो पहले ग्रहों को देखें

sur sangit
Author पं. अशोक पँवार 'मयंक'|
  ND
सुर की दुनिया ही निराली है। आज किसी न किसी पर की प्रतियोगिता चलती रहती है। इनमें कितने ही अपना भाग्य आजमाते हैं। कितने ही सफल होते हैं और आगे चलकर गुम भी हो जाते हैं। आखिर गिने-चुने ही सफल होते हैं। आइए जानें कौन सुर का सम्राट बन सकता है- आवाज के सर्वप्रथम लग्नेश द्वितीय भाव आवाज का फिर तृतीय भाव स्वर का होता है। लग्न पर शुभ ग्रहों की दृष्टि उसमें स्थित शुभ द्वितीय भाव में शुभ स्थिति व द्वितीयेश का शुभ होना व तृतीय भाव में शुभ ग्रह व तृतीयेश का शुभ होना ही गायन के क्षेत्र में सफल होता है। > > लग्न स्वयं को दर्शाता है यदि वृषभ लग्न हो तो प्रधान जो कि गायन के क्षेत्र में इसी का योगदान होता है। शुक्र तृतीय भाव में हो व द्वितीय भाव में शुभ ग्रह होने के साथ-साथ तृतीयेश शुभ होकर चतुर्थ स्थान में हो ऐसा सफल गायक बनता है। धन समृद्ध होता और जनता के बीच प्रसिद्ध होता है।
sur sangit
  ND
कन्या लग्न हो तो बुध स्वर‍ाशि का हो या लग्न में हो द्वितीय भाव का स्वामी शुक्र नवम में हो या द्वितीय भाव में स्वराशि का हो व मंगल तृतीय में हो या तृतीयेश को देखता हो तो ऐसा जातक अच्छी सफलता पाता है। कर्क लग्न में चंद्रमा उच्च का हो व सूर्य-बुध की युति तृतीय या द्वितीय में हो तो ऐसा जातक गायन में अच्छी सफलता पाता है। तुला लग्न हो तो शुक्र लग्न में ही हो तो ऐसा जातक भी गायन में सफल होता है। गरु-मंगल इस लग्न में शुभ स्थान में हो तो ऐसा जातक गायन के क्षेत्र में अच्छी सफलता पाता है।

मीन लग्न में हो तो गुरु का शुभ होना व द्वितीय भाव में मंगल हो या द्वितीय भाव में शुभ ग्रह हो तो तृतीयेश शुक्र शुभ स्थान में हो तो गायन में अच्छी सफलता पाने वाला होता है। यदि उपरोक्त ग्रहों की स्थिति आपकी पत्रिका में हो तो आप इस क्षेत्र में पहले तैयारी कर प्रतियोगिता में भाग लें तो अच्छी सफलता पाते हैं।

इसी प्रकार की स्थिति किसी बालक या बालिका की पत्रिका में हो और वे गायन के क्षेत्र में जाएँ तो आगे चलकर गुमनाम होने के बजाए अपनी एक पहचान बनाने में सफल होते हैं। इन ग्रहों की महादशा चल रही हो तो ऐसे में गायन के क्षेत्र में जाएँ तो अच्छी सफलता मिलती है।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :