अर्थ नहीं पर्यावरण प्रेमी है भारतीय

वॉशिंगटन| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 4 जून 2011 (19:15 IST)
दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक भारत हरित अर्थव्यवस्था बनने का प्रयास कर रहा है। नए में खुलासा हुआ है कि भारतीय लोग आर्थिक वृद्धि पर पर्यावरण रक्षा को मामूली रूप से प्राथमिकता देते हैं।

अमेरिका की प्रमुख सर्वेक्षण एजेंसी ‘गैलप’ ने अपने ताजा सर्वेक्षण में कहा कि ज्यादातर आबादी अर्थव्यवस्था से ज्यादा पर्यावरण पर ध्यान केंद्रित किए हुए हैं।

इसमें कहा गया कि आराम से रह रहे भारतीय भी इस मुद्दे पर विभाजित हैं। सर्वेक्षण में शामिल 45 प्रतिशत लोग पर्यायवरण के संरक्षण संबंधी प्रयासों से सहमत हैं जबकि 38 प्रतिशत इससे संतुष्ट नहीं हैं। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :