वर्ष 2007 : स्थापित नायिकाएँ पिछड़ीं

IFM
इस वर्ष तो क्या कैटरीना के पूरे फिल्मी करियर पर नजर डाली जाएँ तो एकाध को छोड़ उसकी सारी फिल्में हिट रही हैं। सलमान खान की प्रेमिका के रूप में पहचानी जाने वाली कैटरीना ने अपनी पहचान बना ली है। अब वह अपने निर्णय खुद लेती है। निर्माता कैटरीना को गंभीरता से लेने लगे हैं। कैटरीना भी अपने अभिनय में लगातार निखार ला रही है। उम्मीद है कि ‘वेलकम’ उसके इस वर्ष के शत-प्रतिशत सफलता के रेकॉर्ड को कायम रखेगी।

विद्या बालन (सलाम-ए-इश्क, गुरु, एकलव्य, हे बेबी, भूलभुलैया)
IFM
तीन हिट फिल्मों में काम कर विद्या ने अपनी स्थिति बेहद मजबूत कर ली है। ‘हे बेबी’ में अपने आप को मॉडर्न लुक देकर विद्या ने ग्लैमरस बनने की भी कोशिश की। अभिनय विद्या का मजबूत पक्ष है। इसीलिए उसे मणिरत्नम, निखिल आडवाणी, विधु विनोद चोपड़ा और प्रियदर्शन जैसे सितारा निर्देशकों के साथ काम करने का अवसर मिला। 2008 में भी उसकी कुछ उम्दा फिल्में प्रदर्शित होगी।

दीपिका पादुकोण (ओम शांति ओम)
IFM
दीपिका ने इस वर्ष बॉलीवुड में पदार्पण किया और कई नायिकाओं की नींद उड़ा दी। एक ही फिल्म करने के बाद दीपिका वहाँ पहुँच गई, जहाँ पहुँचने में दूसरी नायिकाओं को वर्षों लग जाते हैं। बॉलीवुड के सारे टॉप बैनर्स और नायक दीपिका को साइन करने के लिए उतावले हो रहे हैं। युवा वर्ग में लोकप्रिय दीपिका इस समय नंबर वन नायिका बनने की सबसे बड़ी दावेदार है।

रानी मुखर्जी (ता रा रम पम, लागा चुनरी में दाग, साँवरिया)
IFM
अभिनय की महारानी कही जाने वाली रानी अब केवल चुनिंदा फिल्मों में अभिनय करती है। इस वर्ष सफलता उससे दूर रही। ‘लागा चुनरी में दाग’ पूरी तरह से रानी की फिल्म थी, लेकिन टिकट‍ खिड़की पर फ्लॉप हो गई। ‘साँवरिया’ और ‘ता रा रम पम’ जैसी फिल्मों में रानी का अभिनय उम्दा था, लेकिन फिल्म कमजोर होने का खामियाजा रानी को भुगतना पड़ा। शायद रानी अब शादी करने के मूड में हैं।

प्रिटी जिंटा (झूम बराबर झूम)
IFM
प्रिटी को भी अब अभिनय के बजाय नेस वाडिया प्रिय लगते हैं। सिर्फ एक फिल्म में वह इस वर्ष नजर आई और वो भी फ्लॉप हो गई। लगता है रानी की तरह प्रिटी भी वर्ष 2008 में वैवाहिक बंधन में बँध जाएगी।

ऐश्वर्या राय (गुरु, प्रोवोक्ड)
समय ताम्रकर|
नायिकाओं के क्षेत्र में इस वर्ष काफी उथल-पुथल रहीं। रानी, प्रिटी, बिपाशा, ऐश्वर्या जैसी स्थापित नायिकाओं को पीछे धकेलकर कैटरीना, विद्या, दीपिका और लारा दत्ता जैसी अभिनेत्रियों ने हिट फिल्में दीं। आइए देखते हैं क्या रही नायिकाओं की स्थिति :
कैटरीना कैफ (नमस्ते लंदन, पार्टनर, अपने, वेलकम)
IFM
फिल्मों के बजाय ऐश्वर्या शादी, करवा चौथ और धार्मिक स्थलों पर जाने के लिए ज्यादा चर्चित रही। उसके गर्भवती होने के भी कयास लगते रहे। बॉलीवुड के अधिकांश टॉप हीरो से उसकी कुट्टी हो चुकी है। फिल्मों की बजाय परिवार ऐश्वर्या के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। इस वर्ष ‘गुरु’ के रूप में उसे सफलता मिली और ‘प्रोवोक्ड’ के रूप में सराहना।


और भी पढ़ें :