सुमधुर नटराज स्तुति : प्रतिदिन पढ़ने से मिलता है शिव का आशीष


की अनेक उपासना मंत्र और स्तुति में नटराज स्तुति दिव्य, असरकारी और को प्रसन्न करने वाली है। यह स्तुति अत्यंत मधुर और कर्णप्रिय है। सस्वर इसे गाने से मिलता है। जो लोग संगीत में अपना करियर बना रहे हैं उन्हें यह स्तुति अवश्य पढ़नी चाहिए।

सत सृष्टि रचयिता

नटराज राज नमो नमः...

हेआद्य गुरु शंकर पिता

नटराज राज नमो नमः...

गंभीर नाद मृदंगना
धबके उरे ब्रह्मांडना

नित होत नाद प्रचंडना

नटराज राज नमो नमः...

शिर ज्ञान गंगा चंद्रमा

चिद्ब्रह्म ज्योति ललाट मां

विषनाग माला कंठ मां

नटराज राज नमो नमः...
तवशक्ति वामांगे स्थिता

हे चंद्रिका अपराजिता

चंहु वेद गाए संहिता

नटराज राज नमोः...।


सावन सोमवार की पवित्र और पौराणिक कथा (देखें वीडियो)



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :