Widgets Magazine

देशभर में यहां विराजित हैं मां शाकंभरी के तीन शक्तिपीठ...


* देशभरमें विराजित मां शाकंभरी के शक्तिपीठ जानिए... 
 
देशभर में मां शाकंभरी के हैं। पहला प्रमुख राजस्थान से जिले में उदयपुर वाटी के पास सकराय माताजी के नाम से स्थित है। दूसरा स्थान राजस्थान में ही जिले के समीप शाकंभर के नाम से स्थित है और तीसरा स्थान उत्तरप्रदेश के मेरठ के पास सहारनपुर में 40 किलोमीटर की दूर पर स्थित है।
> शक्तिपीठ 1 :-  
 
मां शाकंभरी का पहला प्रमुख राजस्थान से सीकर जिले में उदयपुर वाटी के पास सकराय माताजी के नाम से स्थित है। यह स्थान सकराय मां के नाम से प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि महाभारत काल में पांडव अपने भाइयों व परिजनों का युद्ध में वध (गोत्र हत्या) के पाप से मुक्ति पाने के लिए अरावली की पहाड़ियों में रुके थे। युधिष्ठिर ने पूजा-अर्चना के लिए देवी मां शर्करा की स्थापना की थी, वहीं अब शाकंभरी तीर्थ है। 
 
श्री शाकंभरी माता का यह गांव सकराय अब आस्था का केंद्र है। सुरम्य घाटियों के बीच बना शेखावटी प्रदेश के सीकर जिले में यह मंदिर स्थित है। 
 
यह मंदिर सीकर से 56 किमी दूर अरावली की हरी वादियों में बसा है। झुंझनूं जिले के उदयपुरवाटी के समीप यह मंदिर उदयपुरवाटी गांव से 16 किमी दूरी पर है। यहां के आम्रकुंज, स्वच्छ जल का झरना आने वाले भक्तों को का मन मोहित कर लेते हैं। आरंभ से ही इस शक्तिपीठ पर नाथ संप्रदाय वर्चस्व रहा है, जो आज तक भी कायम है। 
 
इस मंदिर में लगे शिलालेखों के अनुसार मंदिर के मंडप आदि बनाने में धूसर तथा धर्कट के खंडेलवाल वैश्यों ने सामूहिक रूप से धन इकट्ठा किया था। यह मंदिर खंडेलवाल वैश्यों की कुलदेवी के मंदिर के रूप में विख्यात है। 
 
इस मंदिर का निर्माण 7वीं शताब्दी में किया गया था। विक्रम संवत् 749 के एक शिलालेख प्रथम छंद में गणपति, द्वितीय छंद में नृत्यरत चंद्रिका एवं तृतीय छंद में धनदाता कुबेर की भावपूर्ण स्तुति लिखी हुई है। यहां देवी शंकरा, गणपति तथा धन स्वामी कुबेर की प्राचीन प्रतिमाएं भी देखने को मिलती हैं। इस मंदिर के आसपास जटाशंकर मंदिर तथा श्री आत्ममुनि आश्रम भी हैं। नवरात्रि के दौरान 9 दिनों में यहां उत्सव का आयोजन होता है। सालभर इस मंदिर में भक्तों का तांता लगा रहता हैं। 
 
*** 
 
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व
अक्षय तृतीया के दिन पंखा, चावल, नमक, घी, चीनी, सब्जी, फल, इमली और वस्त्र वगैरह का दान ...

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण
इस पर्व पर अगर पति-पत्नी दोनों व्रत कर के पूजन करें तो सालों साल उनका सौभाग्य बना रहता

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह ...

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह चमत्कारी मंत्र
अक्षय तृतीया के दिन शाम के समय उत्तरमुखी होकर लाल आसान पर बैठकर मां लक्ष्मीजी की उपासना ...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...
14 अप्रैल, शनिवार को सुबह 8 बजकर 27 मिनट पर सूर्य ने मेष राशि में प्रवेश कर लिया हैं। ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, जानिए महत्व
‘अक्षय तृतीया’ के रूप में प्रख्यात वैशाख शुक्ल तीज को स्वयं सिद्ध मुहूर्तों में से एक ...

शरीर के भीतर के 28 प्राणों को जानकर रह जाएंगे हैरान

शरीर के भीतर के 28 प्राणों को जानकर रह जाएंगे हैरान
हमारा शरीर ब्रह्मांड की एक ईकाई है। जैसा ऊपर, वैसा नीचे। जैसा बाहर, वैसा भीतर। संपूर्ण ...

शुक्र का स्वराशि वृषभ में प्रवेश, क्या होगा 12 राशियों पर ...

शुक्र का स्वराशि वृषभ में प्रवेश, क्या होगा 12 राशियों पर असर...
20 अप्रैल 2018, शुक्रवार से शुक्र अपनी स्वराशि वृषभ में प्रवेश करेंगे। शुक्र को सौंदर्य, ...

23 अप्रैल को है मां बगलामुखी जयंती, जानें कैसे करें

23 अप्रैल को है मां बगलामुखी जयंती, जानें कैसे करें साधना...
सोमवार, 23 अप्रैल 2018 को बगलामुखी जयंती है। मां बगलामुखी की साधना शत्रु बाधा से मुक्ति ...

भगवान परशुराम की पारिवारिक पृष्ठभूमि

भगवान परशुराम की पारिवारिक पृष्ठभूमि
महर्षि भृगु के प्रपौत्र, वैदिक ॠषि ॠचीक के पौत्र, जमदग्नि के पुत्र, महाभारतकाल के वीर ...

बृहस्पतिवार को करें मंगल दोष के ये उपाय, दूर होगा तनाव...

बृहस्पतिवार को करें मंगल दोष के ये उपाय, दूर होगा तनाव...
ज्यादातर ज्योति‍षी का मानना है कि अगर कुंडली में मंगल कमजोर हो तो गुरुवार का दिन प्रतिकूल ...

राशिफल