शाश्वत है गाँधी दर्शन

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
क्लासिक कलम बनाने वाली विश्व विख्यात कंपनी मोंट ब्लांक महात्मा गाँधी के दांडी मार्च से प्रेरित होकर एक विशेष कलम पेश कर ...
महात्मा गाँधी का व्यक्तित्व हजारों लाखों के लिए प्रेरणास्रोत है लेकिन उनके जीवन के कई महत्वपूर्ण मौकों पर उन्हें सही ...
गाँधी जयंती को देशभर में विविध तरीकों से मनाने की परंपरा के बीच देश के शिक्षाविदों ने इस दिन को रैगिंग उन्मूलन संकल्प ...
एक अभागा प्राणी, जो कभी नहीं जान सका कि महान पिता की संतान होने का यह दंड क्यों किन्हीं नैसर्गिक अधिकारों की बलि चढ़ ...
Widgets Magazine
संदेशों को सुनकर उनके अनुसार आचरण करने की ईमानदारी समाप्त हो चुकी है। अब तो आदेशों को भी अनसुना कर देने की प्रवृत्ति ने ...

गाँधीजी एक संपादक के रूप में

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
यदि गाँधीजी राष्ट्रपिता न होते तो शायद इस शताब्दी के महानतम भारतीय संपादक होते। अपने छात्र काल से ही उन्हें लिखने व ...

गाँधी को पुनर्जीवित करना होगा

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
संत का अंत नहीं होता बल्कि संत देहमुक्त होकर अनंत हो जाता है। आज आदमी, आदमी के बीच नफरत, जाति-जाति के बीच दुश्मनी और ...

गाँधी, गाँधीवाद और गाँधीगिरी

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
गाँधी, गाँधीवाद और गाँधीगिरी तीनों जुदा-जुदा हैं, लेकिन तीनों का संबंध एक ऐसे शख्स के साथ है, जो सारी दुनिया में एक ही ...
Widgets Magazine

बापू की एक पाती, बा के नाम

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
मैं जानता हूँ कि तुम मेरे साथ रहने की इच्‍छुक हो। मुझे लगता है कि हम दोनों को अपने-अपने कार्य में लगे रहना चाहिए। ...
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के वैसे तो अपने चार पुत्र थे लेकिन वे तमाम भारतीयों को अपनी मानस संतान के तौर पर देखते थे। ...

गाँधी एक पवित्र मंत्र है

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
गाँधीजी न तो शांतिवादी थे, न ही समाजवादी और न ही व्याख्यामय राजनीतिक रंग में रंगने वाले व्यक्ति थे। वे बस, जीवन के ...

गाँधीजी का जीवन-दर्शन

गुरुवार,अक्टूबर 1, 2009
गाँधीजी का देशभक्तों की पंक्ति में सबसे ऊँचा स्थान है। गाँधी की देशभक्ति मंजिल नहीं, अनन्त शान्ति तथा जीव मात्र के ...
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को अपनी मृत्यु का पूर्वाभास हो चुका था, जिसका संकेत वे अनेक बार दे भी चुके थे! जी हाँ, चौधरी ...