शनैश्चर जयंती 15 मई को, जानिए इस दिन कैसे प्रसन्न करें शनिदेव को


नीलांजनं समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्‌।
छायामार्तण्ड संभूतं तं नमामि शनैश्चरम्‌॥

शनि मकर और कुंभ राशि के स्वामी हैं। इनकी महादशा 19 वर्ष की होती है। शनि के अधिदेवता प्रजापिता ब्रह्मा और प्रत्यधिदेवता यम हैं। इनका वर्ण कृष्ण, वाहन गिद्ध तथा रथ लोहे का बना हुआ है। यह एक-एक राशि में तीस-तीस महीने रहते हैं। शनि भगवान सूर्य तथा छाया (संवर्णा) के पुत्र हैं। यह क्रूर ग्रह माने जाते हैं।
शनैश्चर जयंती पर क्या करें-

* इस दिन प्रातः नित्यकर्म से निवृत्त होकर शुद्ध जल से स्नान करें।

* तत्पश्चात पीपल के वृक्ष पर जल अर्पण करें।

* मंदिर में जाकर लोहे से बनी शनि देवता की मूर्ति का मंत्रोपचार द्वारा महाभिषेक करें।

* फिर इस मूर्ति को चावलों से बनाए चौबीस दल के कमल पर स्थापित करें।

* इसके बाद काले तिल, काली उड़द, फूल, धूप व तेल आदि से पूजा करें।


भगवान वैशाख अमावस्या को दिन में बारह बजे माना गया। इसीलिए वैशाख अमावस्या का दिन शनैश्चर जयंती के रूप में मनाया जाता है। शनि मकर और कुंभ राशि के स्वामी हैं तथा इनकी महादशा 19 वर्ष की होती है।


* शनिदेव को काला वस्त्र व लोहे की वस्तु अर्पित करें।

* पूजन के दौरान शनि के निम्न दस नामों का उच्चारण करें- कोंणस्थ, कृष्ण, पिप्पला, सौरि, यम, पिंगलो, रोद्रोतको, बभ्रु, मंद, शनैश्चर।

* दिन में 12 बजे महाआरती कर प्रसाद का वितरण करें।

* पूजन के बाद पीपल के वृक्ष के तने पर सूत के धागे से सात परिक्रमा करें।

* इस मंत्र से शनिदेव की प्रार्थना करें-

शनैश्चर नमस्तुभ्यं नमस्ते त्वथ राहवे।
केतवे अथ नमस्तुभ्यं सर्वशांतिप्रदो भव॥

फिर अपनी आर्थिक क्षमता के अनुसार उचित ब्राह्मणों को भोजन कराकर लौह वस्तु धन आदि का दान अवश्य करें।

अगर मंदिर जाना संभव न हो तो घर पर ही शनिदेव का स्मरण कर शनि चालीसा का पाठ करें। इसके बाद शनि की आरती करें।

शनिदेव की पूजा से पूर्व अगर हनुमानजी की आराधना की जाए तो शनिदेव प्रसन्न होते हैं।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

राशिफल

जन्मपत्रिका क्या है? और कैसे बताती यह आापका अतीत, वर्तमान ...

जन्मपत्रिका क्या है? और कैसे बताती यह आापका अतीत, वर्तमान और भविष्य...
शायद कभी आपके मन में यह सवाल भी आया हो कि आखिर क्या है ये जन्म पत्रिका जिसे जन्म कुंडली ...

सावन मास में पूरे समय जपते रहें यह छोटे-छोटे मंत्र, मिलेगा ...

सावन मास में पूरे समय जपते रहें यह छोटे-छोटे मंत्र, मिलेगा शिव पूजन का सारा पुण्य
अगर आप पूरे श्रावण मास में विधिवत पूजन का समय नहीं निकाल पा रहे हैं तो हम आपके लिए लाए ...

1 करोड़ कन्यादान के बराबर है 1 बिल्वपत्र को चढ़ाने का ...

1 करोड़ कन्यादान के बराबर है 1 बिल्वपत्र को चढ़ाने का पुण्य, जानिए कुछ और भी जरूरी बातें
बिल्वपत्र भोले-भंडारी को चढ़ाना एवं 1 करोड़ कन्याओं के कन्यादान का फल एक समान है।

जानिए कैसा है सूर्य का स्वभाव, क्या पड़ता है आप पर इसका ...

जानिए कैसा है सूर्य का स्वभाव, क्या पड़ता है आप पर इसका प्रभाव
ज्योतिष में जन्मपत्रिका, बारह राशियों एवं नौ ग्रहों का विशेष महत्व है. .. ये नौ ग्रह ...

13 से 19 अगस्त 2018 : साप्ताहिक राशिफल

13 से 19 अगस्त 2018 : साप्ताहिक राशिफल
अपने बड़ों के सपनों को पूरा करने के लिए तत्पर है। किसी कारणवश आप खुद को राह से भटका हुआ ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें पूजा का मुहूर्त और विधि
श्रावण मास की शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को पूरे उत्‍तर भारत में नागपंचमी का पर्व मनाया जाता ...

इस साल 26 अगस्त को राखी का त्योहार, जानिए पर्व मनाने की ...

इस साल 26 अगस्त को राखी का त्योहार, जानिए पर्व मनाने की विधि और पवित्र मंत्र
रक्षाबंधन का शुभ पर्व इस वर्ष 26 अगस्त को हैं। आइए जानें इसे मनाने की पौराणिक और सरल विधि ...

आपने नहीं पढ़ी होगी नाग से जुड़ीं ये 17 प्रचलित मान्यताएं

आपने नहीं पढ़ी होगी नाग से जुड़ीं ये 17 प्रचलित मान्यताएं
हिन्दू धर्म के अनुसार भगवान शिव ने सांप को अपने गले में डालकर और विष्णुजी ने शेष शयन करके ...

स्वतंत्रता दिवस विशेष : कितनी सच है भारत की कुंडली... 4 ...

स्वतंत्रता दिवस विशेष :  कितनी सच है भारत की कुंडली... 4 चौंकाने वाली बातें
ज्योतिष के दिग्गज भारतवर्ष की जन्मपत्रिका आंकलन कर आने वाले साल में देश के ज्योतिषीय ...

14 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...

14 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...
शत्रु सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य कमजोर होगा। भूमि व भवन संबंधी योजना बनेगी। बेरोजगारी दूर ...