हरियाली अमावस्या पर कामना सिद्धि हेतु कौन-सा वृक्ष लगाएं


हरियाली अमावस्या इस वर्ष को है जो दिन में 10 बजकर 58 मिनट से लगेगी। इस दिन को प्रकृति उत्सव के रूप में मनाया जाता रहा है। ज्योतिष के अनुसार विविध कामनाओं के लिए करने से वांछित लाभ प्राप्त होता है।
लक्ष्मी प्राप्ति के लिए : तुलसी, आंवला, केला, बिल्वपत्र का वृक्ष।

आरोग्य प्राप्ति के लिएः ब्राह्मी, पलाश, अर्जुन, आंवला, सूरजमुखी, तुलसी।

सौभाग्य प्राप्ति हेतु : अशोक, अर्जुन, नारियल, बड़ (वट) का वृक्ष।

संतान प्राप्ति हेतु : पीपल, नीम, बिल्व, नागकेशर, गु़ड़हल, अश्वगंधा।

मेधा वृद्धि प्राप्ति हेतु : आँक़ड़ा, शंखपुष्पी, पलाश, ब्राह्मी, तुलसी।

सुख प्राप्ति के लिए : नीम, कदम्ब, घने छायादार वृक्ष।

आनन्द प्राप्ति के लिए : हरसिंगार (पारिजात) रातरानी, मोगरा, गुलाब।रियाली अमावस्या पर वृक्षारोपण का अधिक महत्व है।

शास्त्रों में कहा गया है कि एक पे़ड़ दस पुत्रों के समान होता है। पेड़ लगाने के सुख बहुत होते हैं और पुण्य उससे भी अधिक। वृक्षों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करने हेतु परिवार के प्रति व्यक्ति को हरियाली अमावस्या पर एक-एक पौधा रोपण करना चाहिए।



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine

और भी पढ़ें :