क्या कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने अपनी रैली में पाकिस्तानी झंडा लहराया.. जानिए सच..

के लिए 7 दिसंबर को मतदान होने वाला है। कहा जा रहा है कि राजस्थान में इस बार सत्ताधीन भाजपा और के बीच कांटे की टक्कर है। राज्य में बढ़ती चुनावी सरगर्मी के बीच पूर्व मुख्यमंत्री का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में अशोक गहलोत एक रैली में मंच पर खड़े होकर हरे रंग का एक झंडा लहराते दिखाई दे रहे हैं। फेसबुक, ट्विटर और व्हॉट्सऐप पर इस वीडियो को काफी शेयर जा रहा है और दावा किया जा रहा है कि गहलोत ने अपनी चुनावी रैली में पाकिस्तान का झंडा लहराया।

क्या है वायरल वीडियो में?


10 सेकंड के इस वीडियो में एक मंच है। मंच पर कई लोग हैं। इनमें से एक शख्स हरा झंडा लहरा रहा है। सामने भीड़ है। भीड़ में कुछ लोगों के हाथ में तिरंगे हैं, लेकिन कई अन्य लोगों के हाथ में चांद-सितारा वाले हरे झंडे हैं। मंच पर जो शख्स झंडा लहरा रहा था, वह कुछ सेकेंड बाद झंडा किसी और को देकर पीछे की तरफ मुड़ता है, तब उसका चेहरा दिखता है और वह शख्स है.. कांग्रेस नेता अशोक गहलोत। इस वीडियो के साथ लोग दावा कर रहे हैं कि अशोक गहलोत ने अपनी चुनावी रैली में पाकिस्तान का झंडा लहराया।



आइए जानते हैं.. क्या है सच्चाई..


आपको बता दें कि वायरल वीडियो फेक नहीं, बिल्कुल सही है। अशोक गहलोत वाकई में हरा झंडा लहरा रहे थे। लेकिन इस वीडियो के साथ जो दावा किया जा रहा है कि गहलोत ने अपनी चुनावी रैली में पाकिस्तान का झंडा लहराया, वह सरासर झूठ है। अशोक गहलोत जो झंडा लहरा रहे थे, वह प्लेन हरा झंडा है, न कि पाकिस्तानी झंडा। पाकिस्तानी झंडे में दो रंग होते हैं, एक हरा और दूसरा सफेद। हरे रंग के हिस्से पर चांद और पांच कोनों वाला सितारा होता है।

अब हम आपको बताते हैं भीड़ के हाथों में मौजूद हरे झंडों के बारे में। भीड़ ने जो हरे झंडे लहराए वो पूरी तरह से हरे झंडे थे, जिनपर चांद सितारे तो थे, लेकिन सफेद पट्टी नहीं है। यह पाकिस्तानी नहीं, बल्कि इस्लामिक झंडे हैं। जैसे हिंदू धार्मिक अवसरों पर लोग घरों में धर्म का प्रतीक भगवा ध्वज लगाते हैं, वैसे ही इस्लाम में भी ऐसे अवसरों पर चांद-सितारे वाला हरा झंडा लगाने और लहराने की परंपरा है।

वायरल वीडियो कब का है?


यह वीडियो 20 नवंबर का है और मौका था ईद मिलादुन्नबी का। इस अवसर पर कांग्रस नेता अशोक गहलोत को जोधपुर में एक कार्यक्रम में बुलाया गया था। वहां उन्होंने जुलूस को रवाना करने के लिए एक हरा झंडा लहराया था। अशोक गहलोत ने अपने फेसुबक और ट्विटर अकाउंट से यह वीडियो पोस्ट भी किया था।




और भी पढ़ें :