सेक्स के दौरान हार्टअटैक का सच, क्या ऐसा होता है...

Last Updated: सोमवार, 13 नवंबर 2017 (18:32 IST)

न्यूयॉर्क। एक बड़ी शोध के बाद यह तथ्य सामने आया है कि सेक्स के कारण दिल का धड़कना बंद हो जाए, यह दुर्लभ होता है। यूएसए टुडे की संवाददाता किम पेंटर का कहना है कि एक बड़ी शोध के अनुसार यह तथ्य सामने आया है कि सेक्स के दौरान या इसके बाद आमतौर पर हृदय गति रुकना बहुत कम अवसरों पर होता है और अगर ऐसा होता भी है तो यह आम तौर पर एक पुरुष के साथ ज्यादा होता है।

शोध में बताया गया है कि एकाएक दिल की धड़कन रुकने के एक सौ मामलों में मात्र एक मामला सेक्स से जुड़ा होता है और एक हजार महिलाओं में से किसी एक को यह तकलीफ होती है। यह अध्ययन रविवार को की वैज्ञानिक बैठक के दौरान पेश किया गया। इस अध्ययन को जर्नल ऑफ द अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित किया गया है।

सीडार्स-सिनाई हार्ट इंस्टीट्यूट, लॉस एंजिलिस के एक कार्डियोलॉजिस्ट और अध्ययन के वरिष्ठ लेखक सुमित चुघ का कहना है कि हृदय रोग से पीडि़त लोग इस बात को लेकर चिंतित रहते हैं कि सेक्स खतरनाक हो सकता है, लेकिन आज हम कह सकते हैं कि इससे संबंधित खतरा बहुत कम है।



एकाएक हृदयगति रुक जाने का कारण एक इलेक्ट्रिकल गड़बड़ी है जिसके चलते दिल धड़कना बंद हो जाता है। इसके ज्यादातर शिकार मारे जाते हैं लेकिन यह हृदयाघात से अलग स्थिति है क्योंकि इसके अंतर्गत हृदय को रक्त प्रवाह का बहाव रुक जाता है। लेकिन जिन लोगों को पहले भी हृदयाघात हो चुका है या फिर उनको हृदय संबंधी तकलीफें होती हैं, उनको हृदय गति रुकने का खतरा ज्यादा होता है।

इस नए अध्ययन के तहत पोर्टलैंड, ओरेगॉन में कई वर्षों के दौरान एकाएक हृदयगति रुकने वाले 4557 मरीज लोगों का अध्ययन किया गया। इस अध्ययन के दौरान पाया गया हृदय गति रुकने की घटना सेक्स के दौरान या इसके एक घंटे बाद केवल 34 लोगों में देखने को मिली। इनमें से ज्यादातर शिकार पुरुष ही थे और ऐसे 34 मामलों में से 32 मामले पुरुषों के ही थे।

डॉ. चुघ का कहना है कि अगर आप मुझसे पूछें कि ऐसा क्यों होता है तो मुझे भी इसकी जानकारी नहीं है। यह संभव है कि पुरुषों में अधिक संख्‍या में अंदरूनी तौर पर कोई समस्या हो। संभव है कि कुछ लोगों ने जोखिम भरी दवा ली हो या कुछ ऐसे पूरक आहार लिए हों जो कि अध्ययन के दौरान पकड़ में नहीं आए हों। पुरुषों के मामले में ऐसा असंतुलित जोखिम पहले के अध्ययनों में भी देखा गया था जो कि 2012 में प्रकाशित हुए थे।

कुछ पुरुषों में अतिरिक्त जोखिम तब पता लगा था जबकि कुछ लोग सेक्स के दौरान ही मर गए थे। लेकिन इनमें से ज्यादातर (75 फीसदी) लोगों के ‍‍विवाहेत्तर यौन संबंध थे और ऐसे मामलों में ज्यादातर बूढ़े लोगों के साथी जवान थे। इसके अलावा, उन्होंने अ‍त्यधिक खाना खा लिया या शराब का अधिक सेवन कर लिया था।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :