इस समय बांधें राखी, नहीं होगा अशुभ


इस बार राखी पर सबसे ज्यादा इस बात को लेकर चिंता है कि राखी कब बांधी जाए। आइए जानते हैं एक पंक्ति में राखी के लिए शुभ मुहूर्त
...


चंद्रग्रहण रात 10.53 बजे से शुरू होगा अत: चंद्रग्रहण से 9 घंटे पहले यानी दोपहर 1.53 बजे से सूतक लग जाएगा। सुबह 11.04 बजे तक भद्रा काल का असर रहेगा। चूंकि सूतक और भद्रा दोनों में ही शुभ कार्य वर्जित हैं, इसलिए इन दोनों के बीच का समय राखी बांधने के लिए शुभ है।

सुबह 11.05 बजे से लेकर 1.52 मिनट तक आप का त्योहार मना सकते हैं।

आखिर भद्रा में क्यों नहीं बांधी जाती राखी? क्योंकि शूर्पनखा ने अपने भाई रावण को भद्रा में राखी बांधी थी, जिसके कारण रावण का विनाश हो गया, यानी कि रावण का अहित हुआ। इस वजह से लोग मना करते हैं भद्रा में राखी बांधने को।


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :