वामा विशेष | आलेख | फैशन | स्वास्थ्य-सौन्दर्य | मातृत्व | डोर रिश्तों की | आप और आपका घर
मुख पृष्ठ » विविध » वामा » आलेख » करवा चौथ का श्रृंगार (Karva Chouth)
 
- नयनिका मेहरा

करवा चौथ
ND
ND
त्योहार और उत्सव जीवन में खुशियों के रंग तो लेकर आते ही हैं, साथ ही महिलाओं व युवतियों के लिए खासतौर पर सजने-सँवरने के अवसर भी उपलब्ध करवा देते हैं। सुंदर और आकर्षक कपड़ों-गहनों के साथ ही श्रृंगार का भी उत्सवों पर एक अलग ही आनंद आ जाता है।

उस पर भी यदि बात करवा चौथ जैसे त्योहार की हो तो बनने-सँवरने का उत्साह चरम पर पहुँच जाता है। हर महिला इस दिन कुछ अलग दिखना चाहती है। आइए हम देते हैं कुछ टिप्स इस करवा चौथ पर ताकि आप दिखें सबसे खास।

परिधान- फिलहाल ट्रेंड शिफॉन और जॉर्जेट या क्रेप पर हैवी वर्क वाली साड़ियों का चल रहा है। साथ ही डिजाइनर साड़ियाँ भी काफी चलन में हैं। इनमें पाँच सौ रुपए से पाँच हजार रुपए या इससे भी अधिक की रेंज आप चुन सकती हैं। सेमी शिफॉन या सिल्क भी इस मौसम में अच्छा लगेगा और सदाबहार बाँधनी, लहरिया या ओझरिया तो है ही।

चाहें तो गोटा किनारी या हैवी लेस से सजी साड़ी भी पहन सकती हैं। आमतौर पर त्योहारों पर लाल, पीला या रानी रंग ही ज्यादा पहना जाता है। इस बार कुछ अलग प्रयोग करके देखें। या तो मल्टीकलर कॉम्बिनेशन को आजमाएँ या फिर डबल कलर में शोख रंगों को। चाहें तो सिल्वर, गोल्डन, कॉपर या पेस्टल कलर्स के साथ भी अन्य चटकीले रंगों का संयोजन चुन सकती हैं।

हमेशा सीधी या उल्टे पल्ले की साड़ी पहनकर बोर हो जाना स्वाभाविक है इसलिए इस बार बंगाली स्टाइल में या फिर पल्लू को एक सीध में बॉर्डर की तरह बनाकर साड़ी पहनें। इसी तरह आप और भी कई प्रयोग कर सकती हैं।

अगर सलवार सूट पहन रही हों तो भी उपरोक्त रंगों का ध्यान रखें। आजकल बाजार में दुपट्टे काफी हैवी मिल रहे हैं। ये सूट को और आकर्षक बना देते हैं। यही नहीं सलवार-सूट के लिहाज से आप मनपसंद मटेरियल में दुपट्टे बनवा या रंगवा भी सकती हैं और उस पर वर्क करवा सकती हैं। चाहें तो दुपट्टे पर हैवी लेस लगवाकर प्लेन शिफॉन सूट के साथ पहनें।

लहँगा या लाँछा वैसे अब कम ही पहना जा रहा है, लेकिन अगर इच्छा हो तो शिफॉन, जॉर्जेट या सिल्क का हल्का-फुल्का लहँगा बनवाएँ और सिंपल ज्वेलरी के साथ पहनें। वैसे एक बार की इच्छा पूरी करने के लिहाज से किराए से भी लहँगे लिए जा सकते हैं।

ज्वेलरी- अब एक बार फिर से भारी पुराने चलन के गहनों का दौर आया है। इसमें खासतौर पर कुंदन के गहने पसंद किए जा रहे हैं। कुंदन के साथ मोती का कॉम्बिनेशन भी काफी प्रचलन में है। पारंपरिक थेवा और जड़ाऊ गहने भी पसंद किए जा रहे हैं। जाहिर है कि हर बार अलग-अलग सोने के गहने तो बनवाए नहीं जाते। इसलिए ऐसे मौकों पर आमतौर पर लोग आर्टिफिशियल ज्वेलरी ही पहनते हैं।

यह सेफ भी है और आजकल इसकी काफी वैरायटी बाजार में उपलब्ध हैं। यदि आप कुछ समय के लिए गहने पहनना चाहती हैं और अनावश्यक पैसा लगाने से बचना चाहती हैं तो किराए से भी ये गहने आप ले सकती हैं। इसमें पारंपरिक राजघरानों के हैवी जड़ाऊ हार के सेट, माथे का टीका या बोर, हाथों के कड़े-चूड़ी के सैट, पोंची, करधनी, पायजेब, झुमके, हाथ फूल आदि जितना जो आप पहनना चाहें।

चाहें तो सेमी प्रेशियस स्टोन या डायमंड (आर्टिफिशियल) में भी गहने चुन सकती हैं। आजकल बाजार में बालिका वधू धारावाहिक में पहने गए भारी राजस्थानी कड़े भी उपलब्ध हैं। वे भी हाथों पर अच्छे लगेंगे। हाँ, यह जरूर ध्यान रखें कि यदि कपड़े ज्यादा हैवी वर्क वाले हों तो गहने थोड़े हल्के चुनें और कपड़े यदि कम वर्क वाले हों तो गहने हैवी वर्क में चुनें। साथ ही मैचिंग का ध्यान तो रखें ही।

मेकअप- चाहे आप लाख रुपए की ड्रेस पहनें और हजारों की ज्वेलरी, यदि आपका मेकअप ठीक नहीं है तो सारी मेहनत पानी में चली जाएगी। यह बिलकुल भी जरूरी नहीं कि आप बहुत हैवी मेकअप ही करें या किसी पार्लर में ही जाकर सजें। सलीके से किया गया हल्का-फुल्का मेकअप भी आपकी खूबसूरती में चार चाँद लगाने का काम कर सकता है।

इसके लिए हल्का-सा बेस मेकअप, लाइट शेड की या मैचिंग लिपिस्टिक, मस्कारा, आई लाइनर, काजल और हल्का-सा आई शैडो ही उपयुक्त है। खासतौर पर आई मेकअप आपको सिंपल के साथ आकर्षक लुक भी देता है। इन सबके अलावा सदाबहार मेहँदी या आलता तो बनेगा ही आपके श्रृंगार का हिस्सा।

तो इस करवा चौथ कीजिए कुछ नया प्रयोग जो सबको तारीफ करने पर मजबूर कर दे।
संबंधित जानकारी खोजें