क्या आप भी हैं सुपर हीरो हल्क के दीवाने, जानिए उसकी कहानी


सुपरमैन, बैटमैन और स्पाइडरमैन के बारे में तो हमने खूब पढ़ा है लेकिन अगर बात इनसे भी बड़े सुपर हीरो की हो तो वो है हल्क। एक ऐसा सुपरहीरो जो है तो काल्पनिक लेकिन बच्चें उसे असल जिंदगी का हिस्सा मानते हैं।

पर आधारित सबसे ताकतवर हल्क के पीछे हमारे जैसा ही एक साधारण इंसान छुपा हुआ है जिसका नाम है ब्रूस बैनर.... । 2003 में इस कॉमिक से हॉलीवुड इंडस्ट्री में कदम रखने वाला अति शक्तिशाली और अविश्वसनीय हल्क आज भी छाया हुआ है।

सामान्य जिंदगी जी रहे ब्रूस को जब गुस्सा आता है तो उस वक्त उसका शरीर एक बड़े से हल्क का रूप ले लेता है जो पूरी दुनिया को तबाह कर सकता है। महाशक्तिशाली हल्क पर किसी का जोर नहीं, न बन्दूक की गोलियों का उस पर कोई असर है और न ही कोई मशीन और न ही किसी इंसानी ताकतों का।

इसका रंग हरा क्यों?
इतना बड़ा शक्तिशाली हल्क के शरीर का रंग हरा क्यों? तो आपको बता दे कि पहले ये हरा न होकर ग्रे रंग का था। प्रिंटर की वजह से हर पैनल पर अलग अलग दिखता, कभी चारकोल ब्लैक तो कभी पिस्टल ग्रे। इस कारण मार्वल कॉमिक के चेयरमैन स्टेन ली ने इसका हरा रंग तय किया। इसके पीछे एक और कारण यह भी है कि किसी भी मार्वल केरैक्टर का रंग हरा नहीं था।

हल्क को इतना गुस्सा क्यों आता भाई?
हल्क को बहुत गुस्सा आता है पर क्यों? ये सवाल तो आपको भी बैचेन करता होगा। हल्क यानी ब्रूस के पापा बैनर खूब नशा करते थे और नशे में वे अपने बेटे यानि हल्क को बहुत मारते थे। उन्हें अपने बेटे के रहस्यमयी ज्ञान का डर सताता था। जब हल्क की मम्मी ने उन्हें रोकने की कोशिश की ब्रायन ने उनकी जान ले ली। इस घटना से व्यथित ब्रूस जब कई साल बाद ब्रायन से टकराया तो उसने गुस्से में अपने पिता की जान ले ली। शायद यही वजह है कि हल्क को गुस्सा आता है।

दूसरे सुपरहीरो से कैसे अलग है हल्क?
हल्क के पास कुछ ऐसी अनोखी शक्तियां है जो उसे किसी दूसरे सुपर हीरो से अलग करती है। हल्क का गुस्सा जैसे-जैसे बढ़ता जाता है वो कई गुना ताकतवर होता जाता है। हल्क में भूत-प्रेतों को देखने की भी विचित्र शक्तियां है।

हल्क कैसे बना सबका चहेता
अवेंजर्स में हल्क का गेस्ट अपीयरेंस सबको भा गया। जिसके बाद से हल्क को बतौर विलेन पहचान मिली और तब से लेकर अब तक हल्क सारे सुपर हीरोज में अव्वल बना हुआ है।
प्रस्तुति : खुशबू जैसानी


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए ...

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए जानते हैं यह रहस्य-
पूर्णिमा के दिन मोहक दिखने वाला और अमावस्या पर रात में छुप जाने वाला चांद अनिष्टकारी होता ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान लें नुकसान
शायद ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जिसने किसी बच्चे को अंगूठा चूसते हुए कभी न देखा हो। अक्सर ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, जानें वजह और बचाव के उपाय
मौसम आ गया है कि आपको चाहे जब लगेगा हल्का बुखार। तो क्या घबराने की कोई बात है? जी नहीं, ...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...
अगर आप से पूछा जाए कि प्रेशर कुकर में या कड़ाही खाना बनाना बेहतर है तो आप तुरंत प्रेशर ...

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग
आजकल मार्केट में नारियल पानी से ज्यादा नारियल क्रश को पसंद किया जा रहा है। इसकी बड़ी वजह ...

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री
पिछले सप्ताह विश्व प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!
पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो यह एस्ट्रो टिप्स आपके लिए है
क्या आप भी संकोची हैं, अगर हां तो यह आलेख आपके लिए है...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों ...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों को नजरअंदाज करें, वरना हो सकती है बड़ी परेशानी
ये बीमारी भी ऐसे ही सामने नहीं आती। इसके भी लक्षण हैं जो आप और हम जैसे लोग अनदेखा करते ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु नहीं हो...ग्रहण के कारण इस समय कर लें पूजन
वे लोग जिन्हें गुरु उपलब्ध नहीं है और साधना करना चाहते हैं उनका प्रतिशत समाज में अधिक है। ...