ENG vs IND : बर्मिंघम टेस्ट में चला सैम कुरेन का जादू

अतुल शर्मा| पुनः संशोधित गुरुवार, 2 अगस्त 2018 (20:30 IST)
टीम के ऑलराउंडर ने बर्मिंघम में और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे पहले के दूसरे दिन अपनी शानदार गेंदबाजी से भारतीय टीम के तीन बेहतरीन बल्लेबाजों को एक के बाद एक आउट करके अपनी गेंदबाजी की धाक जमा दी। 20 साल के इस युवा खिलाड़ी ने अपने पहले 4 ओवर यह करनामा कर दिखाया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड ने पहली पारी में 287 रनों का स्कोर खड़ा किया। जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत काफी अच्छी रही ओपनिंग जोड़ी और ने बिना किसी नुकसान के 50 रन बना लिए थे लेकिन तभी कुरेन ने अपनी शानदार गेंदबाजी से भारत को तीन बड़े झटके दिए और टीम इंडिया को बैकफुट पर धकेल कर स्कोर को 50/0 से लेजार 59/3 के स्कोर पर लकर खड़ा कर दिया।

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा : सैम कुरेन का पूरा नाम सैम्युअल मैथ्यू कुरेन है। उनका जन्म 3 जून 1998 में जिम्बाब्वे के पूर्व केविन कुरेन के घर नॉर्थम्प्टन में हुआ था। वे इंग्लैंड के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर टॉम कुरेन और बेन कुरेन के भाई हैं। इन्होंने स्प्रिंगवैल हाउस, सेंट जॉर्ज कॉलेज, हरारे और वेलिंगटन कॉलेज, बर्कशायर में पढ़ाई की है।

घरेलू क्रिकेट कॅरियर : कुरेन अंडर-15, अंडर-17, और द्वितीय इलेवन स्तर पर सरे का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। 2014 के सत्र के दौरान उन्होंने सरे चैंपियनशिप प्रीमियर डिवीजन में वेब्रिज का प्रतिनिधित्व किया था। पूर्व क्रिकेट क्रिकेट खिलाड़ी एलेक स्टीवर्ट ने उन्हें '17 वर्षीय सबसे अच्छे क्रिकेटर' के रूप में वर्णित किया था।
अंतरराष्ट्रीय कॅरियर : सैम कुरेन को ट्रांस तस्मान त्रिकोणीय सीरीज 2018 की सीरीज में इंग्लैंड क्रिकेट टीम में पहली बार मौका दिया गया था लेकिन इसमें उन्हें खेलने का मौका नहीं दिया गया था। इस त्रिकोणीय श्रृंखला में इंग्लैंड के अलावा ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड भी शामिल थी।

इसके बाद इन्हें पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे पर शामिल किया गया था क्योंकि बेन स्टोक्स के मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था। इसके बाद इन्हें दूसरे मैच में पदार्पण करने का मौका दिया गया था। कुरेन ने 1 जून 2018 को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया है।

सैम कुरेन ने 24 जून 2018 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कॅरियर की शुरुआत की और में भारत के सूरमा बल्लेबाजों का शिकार करके अपनी काबिलियत भी साबित की।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :