सूर्य देव का तुला राशि में प्रवेश, इन राशियों पर होगा बड़ा असर... जानिए 7 सरलतम उपाय भी...


सूर्य का और 12 राशियां
से सूर्य हुए नीचराशिस्थ, क्या होगा असर..

ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है। से सूर्य ने गोचरवश अपनी नीचराशि तुला में प्रवेश कर लिया है। तुला राशि के अधिपति शुक्र से सूर्य की नैसर्गिक शत्रुता है। तुला राशि में सूर्य नीचराशिगत होते हैं। आइए जानते हैं कि सूर्यदेव के अपनी नीच राशि तुला में गोचर का समस्त 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा।
1. मेष- मेष राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार दाम्पत्य सुख में हानि होगी। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। धन हानि एवं मानहानि होगी। सिर में पीड़ा के साथ-साथ शारीरिक कष्ट की संभावनाएं हैं।

2. वृष- वृष राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। रोगों से मुक्ति मिलेगी। राज्य से लाभ प्राप्त होगा। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
3. मिथुन- मिथुन राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार मानसिक पीड़ा होगी। राज्याधिकारियों से विवाद होगा। संतान को कष्ट की संभावना है। धनहानि होगी। यात्रा में दुर्घटना की संभावना है। राजनैतिक क्षेत्र में असफलता प्राप्त होगी।

4. कर्क- कर्क राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार पारिवारिक विवाद के कारण कष्ट होगा। धनहानि व मानहानि होगी। यात्रा में कष्ट होगा। जमीन-जायदाद संबंधी मामलों में असफलता प्राप्त होगी। मानसिक अशांति के कारण कष्ट रहेगा।
5. सिंह- सिंह राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार मित्रों से लाभ होगा। धन लाभ होगा। राज्याधिकारियों से अनुकूलता प्राप्त होगी। पदोन्नति की संभावना है। उच्च पद की प्राप्ति होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी। मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

6. कन्या- कन्या राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार व्यापार व धन संपत्ति में हानि का योग है। मित्रों व परिवारजनों से विवाद की संभावना है। सिर व आंखों में पीड़ा के कारणपरेशानी रहेगी। राजनैतिक क्षेत्र में हानि होगी।
7. तुला- तुला राशि में सूर्य नीचराशिगत होते हैं। तुला राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन हानि के योग हैं। सम्मान व प्रतिष्ठा में कमी होगी। सिर व नेत्रों में विकार के कारण कष्ट होगा। राजनीति के क्षेत्र में असफलता प्राप्त होगी। शासन से असहयोग मिलेगा।

8. वृश्चिक- वृश्चिक राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार स्थान परिवर्तन का योग बन रहा है। कार्यक्षेत्र में परेशानियां रहेंगी। गुप्त शत्रुओं के कारण हानि का योग है।
9. धनु- धनु राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन प्राप्ति का योग है। पदोन्नति के अवसर हैं। मान-सम्मान व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। राज्य की ओर से लाभ प्राप्त होगा। राजनैतिक क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी।

10. मकर- मकर राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार व्यापार में लाभ प्राप्त होगा। कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। धन लाभ होगा। मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।
11. कुंभ- कुंभ राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार धन हानि की संभावना है। झूठे आरोप के कारण प्रतिष्ठा धूमिल होगी। कार्यों में असफलता प्राप्त होगी। रोग के कारण कष्ट होगा। पारिवारिक विवाद के कारण अशांति का वातावरण रहेगा।

12. मीन- मीन राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर अनुसार विवाद के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। कोर्ट-कचहरी व मुकदमें में असफलता के योग हैं। धन का अपव्यय होगा। उच्च रक्तचाप के कारण कष्ट होगा। मान-प्रतिष्ठा में कमी आएगी।
surya
सूर्य के अशुभ प्रभाव को कम करने हेतु उपाय : -
1. 250 ग्राम गुड़ रविवार के दिन बहते जल में प्रवाहित करें।

2. प्रतिदिन सूर्यदेव को कुंकुम मिश्रित जल का अर्घ्य दें।

3. 11 रविवार को किसी मंदिर में 8 बादाम चढ़ाएं।

4. रविवार को सूर्यास्त से पूर्व भोजन करें।

5. रविवार को बिना नमक वाला भोजन करें।

6. रविवार को सूर्य का दान करें। (दान सामग्री: लाल वस्त्र, लाल पुष्प, गुड़, मसूर की दाल, तांबा, गेहूं, केसर आदि)
7. प्रतिदिन लाल गाय को गुड़-रोटी खिलाएं।

-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केन्द्र
सम्पर्क: astropoint_hbd@yahoo.com


और भी पढ़ें :