सितंबर 2017 : कैसा है यह माह देश-विदेश के लिए...


* इस माह कईं ग्रह करेंगे परिवर्तन, क्या होगा असर, जानिए...  
 
 
> > में के में होने से रुई, तुवर, चावल में मंदी आएगी। बुध 5 सितंबर से मार्गी हो रहा है अत: चांदी में भाव कम  होंगे। सोना, गेहूं, जौ, चावल एवं मूंगफली में तेजी रहेगी। 
सुगंधित वस्तुओं में मंदी रहेगी। से गुरु तुला राशि में प्रवेश करेगा, फलस्वरूप सोना, रुई, सुपारी, नारियल में तेजी होगी। तेल, सरसों, अलसी  में मंदी रहेगी। 13 सितंबर से सूर्य के उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में होने से कपास, रेशम, सोना, चांदी, लोहा, तेल, अलसी, सरसों, चावल, उड़द,  सुपारी, बांस एवं जुवार में तेजी आएगी। 
 
को शुक्र सिंह राशि में प्रवेश करेगा अत: तांबा, सोना, जौ, चना, गेहूं, लाल मिर्ची में तेजी आएगी। 16 सितंबर को बुध के पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र  में आने से गुड़, शकर, गेहूं में मंदी आएगी। 17 सितंबर को सूर्य का कन्या राशि में प्रवेश होने से रुई, नारियल, तिल, तेल, चांदी में मंदी आएगी। 
 
24 सितंबर से बुध उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में प्रवेश करेगा अत: उड़द, मूंग, मसूर, तुवर में तेजी आएगी। जौ, चना, हल्दी, गेहूं में मंदी आएगी। 27 सितंबर  को सूर्य हस्त नक्षत्र में आएगा फलस्वरूप जौ, जुवार, गुड़, गेहूं, कपास, रुई, नमक, हींग, धनिया, हल्दी में तेजी आएगी। 
 
पूर्वी देशों में सुख-शांति व दक्षिण-पश्चिम देशों में युद्धादि का भय रहेगा एवं उत्तर के देशों में अशांति के साथ बालकों पर कष्ट रहेगा। आतंक पर नियंत्रण  होगा। इस माह विज्ञान के क्षेत्रों में भी विश्व में उन्नति होगी। भारत में धर्म के नाम पर झगड़े व तनाव बढ़ेंगे व सांप्रदायिकता को लेकर अशांति रहेगी। 

ALSO READ: : क्या लाया है यह माह आपकी राशि के लिए
 
वर्षा अधिक होगी। मैदानी भागों में हालत खराब रहेगी। मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में जल की समस्या दूर होगी अर्थात  अच्छी वर्षा होगी। उत्तराखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश, हरियाणा में प्रथम 2 सप्ताह वर्षा रहेगी। अंतिम सप्ताह में राहत मिलेगी व जन-धन की हानि हो सकती  है। 
 
पंजाब, गुजरात, कर्नाटक, मद्रास, महाराष्ट्र में कहीं-कहीं अच्छी वर्षा होगी, कहीं-कहीं खंड वर्षा होगी। 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?
अतिथि कौन? वेदों में कहा गया है कि अतिथि देवो भव: अर्थात अतिथि देवतास्वरूप होता है। अतिथि ...

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें
रोजमर्रा में हम ऐसी गलतियां करते हैं जो वास्तु के अनुसार सही नहीं होती। आइए जानते हैं कुछ ...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...
श्रेष्ठ संतान के जन्म के लिए आवश्यक है कि 'गर्भाधान' संस्कार श्रेष्ठ मुहूर्त में किया ...

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर असर
कला, धन, सौन्दर्य के कारक ग्रह शुक्र ने 20 अप्रैल, शुक्रवार को सुबह 2 बजे वृषभ राशि में ...

यह है भगवान नृसिंह के रौद्र अवतार की पौराणिक कथा

यह है भगवान नृसिंह के रौद्र अवतार की पौराणिक कथा
हिरण्यकशिपु का शासन बहुत कठोर था। देव-दानव सभी उसके चरणों की वंदना में रत रहते थे। भगवान ...

इस एकादशी पर करें ये 3 उपाय, शीघ्र होगा आपका विवाह...

इस एकादशी पर करें ये 3 उपाय, शीघ्र होगा आपका विवाह...
धार्मिक शास्त्रों के अनुसार एकादशी के व्रत-उपवास का बहुत महत्व है।जिन लोगों की शादी नहीं ...

28 अप्रैल को श्री नृसिंह जयंती, यह खास मंत्र देंगे उन्नति ...

28 अप्रैल को श्री नृसिंह जयंती, यह खास मंत्र देंगे उन्नति और कीर्ति
भगवान नृसिंह विष्णुजी के सबसे उग्र अवतार माने जाते हैं। उनकी पूजा-आराधना यश, सुख, ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक मंत्र
अगर आप कई संकटों से घिरे हुए हैं या संकटों का सामना कर रहे हैं, तो भगवान विष्णु या श्री ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष विश्लेषण
वर्तमान समय में देश में दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि हुई है। काम-क्रोध आदि षड्विकार सभी ...