प्रेम संबंध होते हैं क्यों बदनाम, राहु है इसके लिए जिम्मेदार


जानिए


आमतौर पर माना जाता है कि के लिए शुक्र स्वराशि में, बारहवें भाव का बलवान होना या शुक्र से संबंध तथा पंचम भाव का बलवान होना ही पर्याप्त है परन्तु
राहु
भी इसके लिए जिम्मेदार होता है।
राहु
प्रेम संबंधों के पनपने के लिए उत्तरदायी होता है।

भी उस प्रकार के जिसमें दो व्यक्ति समाज से नजरें बचाकर एक-दूसरे से मिलते हैं
राहु
उनके लिए उत्तरदायी होता है।
राहु
रहस्य का कारक ग्रह है और तमाम रहस्य की परतें
राहु
की ही देन होती हैं।
राहु
झूठ का वह रूप है जो झूठ होते हुए भी सच जैसे प्रतीत होता है। जो प्रेम संबंध असत्य की डोर से बंधे होते हैं या जो संबंध दिखावे के लिए होते हैं वेराहु
के ही बनावटी सत्य हैं।
राहु
व्यक्ति को झूठ बोलना सिखाता है। बातें छिपाना, बात बदलना, किसी के विश्वास को सफलता पूर्वक जीतने की कला
राहु
के अलावा कोई और ग्रह नहीं दे सकता।
राहु
एकतरफा प्रेम का वह रूप है जिसमें व्यक्ति कभी अपने प्यार के सामने नहीं आता और फिर भी चुपचाप सब कुछ देखता रह जाता है, क्योंकि परिस्थितियां, ग्रह गोचर अनुकूल नहीं हैं बलवान नहीं हैं।राहु
वह लालच है जिसमें व्यक्ति को कुछ अच्छा-बुरा दिखाई नहीं देता केवल अपना स्वार्थ ही दिखाई देता है। मांस मदिरा का सेवन, बुरी लत, चालाकी और क्रूरता, अचानक आने वाला गुस्सा, पीठ पीछे की बुराई यह सब
राहु
की विशेषताएं हैं। असलियत को सामने न आने देना ही
राहु
की खासियत है और हर तरह के झूठ का पर्दाफाश करना केतु का धर्म है।

केतु ही है जो संबंधों में दरार डालता है क्योंकि केतु ही दरार है। घर की दीवार में यदि दरार आ जाए तो समझ लीजिए यह केतु का बुरा प्रभाव है और यदि संबंधों में भी दरार आ जाए, घर का बंटवारा हो जाए या रिश्तों की परिभाषा बदल जाए तो यह केतु का काम समझें। दुविधा मेंराहु
का हाथ होता है। किसी भी प्रकार की अप्रत्याशित घटना का कारक
राहु
ही होता है। यदि आप मन से जानते हैं की आप झूठ की राह पर हैं परन्तु आपका भ्रम है कि आप सही कर रहे हैं तो यह धारणा आपको देने वाला
राहु
ही है।

किसी को धोखा देने की प्रवृत्ति
राहु
पैदा करता है यदि आप पकडे जाए तो इसमें भी आपके
राहु
का दोष है क्योंकि वह आपकी कुंडली में आपके भाग्य में निर्बल है और यह स्थिति बार बार होगी। इसलिएराहु
का अनुसरण करना बंद करें क्योंकि यह जब बोलता है तो कुछ और सुनाई नहीं देता। जिस तरह कर्ण पिशाचिनी आपको गुप्त बातों की जानकारी देती है उसी तरह यदि
राहु
आपकी कुंडली में बलवान होगा तो आपको सभी तरह की गुप्त बातें बैठे बिठाए ही पता चल जाएंगी। यदि आपको लगता है की सब कुछ गुप्त है और आपसे कुछ छुपाया जा रहा है या आपके पीठ पीछे बोलने वाले लोग बहुत अधिक हैं तो यह भी
राहुकी ही करामात है।



Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?

अतिथि देवो भव:, जानिए अतिथि को देवता क्यों मानते हैं?
अतिथि कौन? वेदों में कहा गया है कि अतिथि देवो भव: अर्थात अतिथि देवतास्वरूप होता है। अतिथि ...

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार

यह रोग हो सकता है आपको, जानिए 12 राशि अनुसार
12 राशियां स्वभावत: जिन-जिन रोगों को उत्पन्न करती हैं, वे इस प्रकार हैं-

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें

वास्तु : खुशियों के लिए जरूरी हैं यह 10 काम की बातें
रोजमर्रा में हम ऐसी गलतियां करते हैं जो वास्तु के अनुसार सही नहीं होती। आइए जानते हैं कुछ ...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...

कैसे करें गर्भाधान संस्कार, पढ़ें ज्योतिषीय जानकारी...
श्रेष्ठ संतान के जन्म के लिए आवश्यक है कि 'गर्भाधान' संस्कार श्रेष्ठ मुहूर्त में किया ...

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर

शुक्र आया अपनी राशि में, क्या होगा 12 राशियों के जीवन पर असर
कला, धन, सौन्दर्य के कारक ग्रह शुक्र ने 20 अप्रैल, शुक्रवार को सुबह 2 बजे वृषभ राशि में ...

यह है भगवान नृसिंह के रौद्र अवतार की पौराणिक कथा

यह है भगवान नृसिंह के रौद्र अवतार की पौराणिक कथा
हिरण्यकशिपु का शासन बहुत कठोर था। देव-दानव सभी उसके चरणों की वंदना में रत रहते थे। भगवान ...

इस एकादशी पर करें ये 3 उपाय, शीघ्र होगा आपका विवाह...

इस एकादशी पर करें ये 3 उपाय, शीघ्र होगा आपका विवाह...
धार्मिक शास्त्रों के अनुसार एकादशी के व्रत-उपवास का बहुत महत्व है।जिन लोगों की शादी नहीं ...

28 अप्रैल को श्री नृसिंह जयंती, यह खास मंत्र देंगे उन्नति ...

28 अप्रैल को श्री नृसिंह जयंती, यह खास मंत्र देंगे उन्नति और कीर्ति
भगवान नृसिंह विष्णुजी के सबसे उग्र अवतार माने जाते हैं। उनकी पूजा-आराधना यश, सुख, ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक ...

हर तरफ है बस संकट ही संकट तो पढ़ें नृसिंह देव का यह अचूक मंत्र
अगर आप कई संकटों से घिरे हुए हैं या संकटों का सामना कर रहे हैं, तो भगवान विष्णु या श्री ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष ...

ज्योतिष के यह योग बनाते हैं चरित्रहीन, पढ़ें ज्योतिष विश्लेषण
वर्तमान समय में देश में दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि हुई है। काम-क्रोध आदि षड्विकार सभी ...