खेलों के लिए बजट आवंटन-सुविधाएं बढ़ाने की मांग

Last Updated: शुक्रवार, 3 अगस्त 2018 (21:28 IST)
नई दिल्ली। लोकसभा में सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ओर के सदस्यों ने देश में खेलों को बढ़ावा देने और अंतरराष्ट्रीय स्तर के ज्यादा खिलाड़ी तैयार करने के लिए एवं सुविधाएं बढ़ाने की शुक्रवार को पुरजोर की।

राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय विधेयक 2018 पर चर्चा को आगे बढ़ाते हुए भारतीय जनता पार्टी के ने देश में खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए स्कूल एवं कॉलेज स्तर पर प्रतियोगिताओं को अनिवार्य करने की मांग करते हुए कहा कि केवल एक विश्वविद्यालय की स्थापना से पर्याप्त लाभ नहीं होगा, इसके लिए और अधिक प्रयास करने की जरूरत है।
ठाकुर ने देश में विभिन्न खेलों के लिए शोध एवं विकास (आरएंडडी) कार्य नहीं किए जाने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि खेलों में भी आरएंडडी का कार्य होना चाहिए ताकि खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण मिल सके। उन्होंने विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय खेल महासंघों की भूमिका तय करने की भी आवश्यकता जताई।

उन्होंने कहा कि 130 करोड़ की आबादी वाले देश भारत का स्थान जब पदकों की सूची में निचले पायदान पर होता है तब शर्म से सिर झुक जाता है, लेकिन इस विश्वविद्यालय के शुरू होने से स्थिति में परिवर्तन होगा। उन्होंने कहा कि खाली पड़े स्टेडियमों का इस्तेमाल विभिन्न आयोजनों के लिए किया जाना चाहिए। (वार्ता)



और भी पढ़ें :