अब उंगली दिखाकर विवादों में फंसे मेराडोना

रियो डि जेनेरियो| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 23 जून 2014 (18:01 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
रियो डि जेनेरियो। कभी ‘हैंड ऑफ गॉड’ तो कभी नशीली दवाओं के सेवन के कारण विवादों में रहने वाले महान डिएगो मेराडोना अब अर्जेंटीनी फुटबॉल संघ के जुलियो ग्रोंडोना को उंगली दिखाने के कारण चर्चा में हैं।


अर्जेंटीना और ईरान के बीच बेलो होरिजोंटे में शनिवार को खेले गए विश्व कप मैच के दौरान मेराडोना अपनी बेटी के साथ दर्शक दीर्घा में उपस्थित थे लेकिन वे अंतिम हूटर बजने से कुछ देर पहले स्टेडियम से चले गए थे और लियोनेल मेसी का इंजुरी टाइम में किया गया निर्णायक गोल नहीं देख पाए थे।

इस पर ग्रोंडोना ने कहा कि अर्जेंटीना इसलिए ईरान के खिलाफ गोल कर पाया, क्योंकि मेराडोना स्टेडियम से चले गए थे और ‘मनहूसियत’ खत्म हो गई थी।

मेराडोना ने टेलीविजन प्रसारण में इसका जवाब ग्रोंडोना को अपनी बीच की उंगली दिखाकर दिया। अर्जेंटीना की 1986 की जीत का नायक वेनेजुएला के टेलेसुर प्रसारक के लिए काम रहा है।


‘द गार्डियन’ की रिपोर्ट के अनुसार मेराडोना ने उंगली दिखाते हुए कहा क‍ि यह मनहूस। बेवकूफ आदमी। यह मेसी का कमाल था। गोल इसलिए नहीं हुआ कि मैं चला गया था।
ग्रोंडोना अभी 82 वर्ष के हैं और 1979 से अर्जेंटीनी फुटबॉल संघ के प्रमुख हैं। वे तब भी इस शीर्ष पद पर थे, जब मेराडोना ने 1986 में एकल प्रयास से अपनी टीम को विश्व चैंपियन बनाया था। (भाषा)



और भी पढ़ें :