शकुनि मामा थे कौरवों के दुश्मन!

अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: मंगलवार, 12 जून 2018 (17:28 IST)
गांधारी के भाई और दुर्योधन के मामा शकुनि को कौन नहीं जानता? में शकुनि का किरदार अहम रहा है। कहते हैं कि बुद्धिबल, शस्त्रबल से भी ज्यादा खतरनाक होता है। महाभारत में कृष्ण, शकुनि, भीष्म, विदुर, द्रोण आदि ऐसे लोग थे जिन्होंने अपने बुद्धिबल का प्रयोग किया।
 
महाभारत की गाथा में शकुनि अपनी कुटिल बुद्धि के लिए विख्‍यात माना जाता है। कौरवों के मामाश्री शकुनि मामा को कौरवों का शुभचिंतक माना जाता है। शकुनि मामा दुर्योधन का कदम-कदम पर मार्गदर्शन करते रहते थे। दुर्योधन भी मामा शकुनि की इच्छा के बगैर एक कदम भी नहीं उठाते थे। यह बात जहां गांधारी को खटकती थी, वहीं धृतराष्ट्र को भी। हम आपको अगले पन्नों पर बताएंगे कि क्यों शकुनि दुर्योधन सहित अन्य कौरवों का दुश्मन था और किस तरह शकुनि का अंत हुआ।
 
अगले पन्ने पर जारी...
 



और भी पढ़ें :