0

Adhik Maas 2020 : अधिकमास में बहुत शुभफलदायक होंगे ये 5 काम

सोमवार,सितम्बर 28, 2020
0
1
यदि आप सप्ताह में कुछ खास कार्य करने जा रहे हैं तो निम्न उपायों के साथ अपने दिन की शुरूआत करें। इन उपायों के प्रभावों से आपके कार्य की सफलता के योग और मजबूत होंगे।
1
2
शनिदेव 29 सितंबर 2020 को सुबह 10 बजकर 45 मिनट पर वक्री से मार्गी हो रहे हैं। शनि के मार्गी होने से जिस राशि पर भी शनि के प्रभाव थे, वे काफी हद तक कम हो जाएंगे।
2
3
सृष्टि का सबसे प्रेमिल जोड़ा है शिव पार्वती, सबसे पहला प्रेम विवाह भी उन्हीं का माना जाता है। महिलाएं अच्छा जीवनसाथी पाने के लिए भगवान शिव की पूजा आराधना करती हैं।
3
4
दिनांक 28 सितंबर से पंचक लग रहा है, आइए जानें उपाय....
4
4
5
मुझे जल के साथ-साथ बिल्वपत्र बहुत प्रिय है।जो अखंड बिल्वपत्र मुझे श्रद्धा से अर्पित करते हैं मैं उन्हें अपने लोक में स्थान देता हूं।
5
6
हर दिन की रंगोली का अपना-अपना महत्व है। यदि आप श्रद्धा से रंगोली बनाते हैं,तो उससे क्या लाभ मिलता है? उसका क्या महत्व है? आइए उसके बारे में जानकारी लें-
6
7
धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि साढ़ेसाती चल रही है। शनि ग्रह इस समय मकर राशि में वक्री हैं। यानि मकर राशि में शनि उल्टी चाल चल रहे हैं। शनि की साढ़े साती जीवन में परेशानी प्रदान करती है। आइए जानते हैं इसके उपाय।
7
8
ग्रहों की दुनिया निराली होती है। ज्योतिष शास्त्र कहता है कि ग्रहों का असर हमारे जीवन, सेहत और मन पर होता है। आइए डालते हैं एक नजर...
8
8
9
आइए जानें वास्तु के अनुसार कि कौन सा उपहार नए घर के लिए शुभ होता है।
9
10
जल अर्थात् पानी का धन-दौलत से बहुत करीब का संबंध माना गया है। दोनों ही समान गुणधर्मी होते हैं। दोनों की प्रकृति है बहना। यदि कद्र न की जाए, सहेज कर न रखा जाए तो दोनों बह जाते हैं।
10
11
जब हम गृह प्रवेश करते हैं तो नई आशा, नए सपने, नई उमंग स्वाभाविक रूप से मन में हिलोर लेती है। आइए जानें 20 जरूरी बातें जो आपको नए घर में प्रवेश के समय याद रखनी चाहिए।
11
12
इस वर्ष 27 सितंबर 2020, रविवार को पद्मिनी एकादशी व्रत रखा जाएगा। इस एकादशी का व्रत अधिक मास में रखा जाता है। पुरुषोत्तम में यह एकादशी आने के कारण इसे पुरुषोत्तमी एकादशी भी कहते हैं।
12
13
बुध ग्रह बुद्धि, विवेक, ज्ञान, कला, शिक्षा, लेखन और संचार को प्रभावित करते हैं। बुध गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर होगा।
13
14
23 सितंबर 2020 से राहु-केतु ने राशि परिवर्तन कर लिया है। राहु वृषभ में व केतु वृश्चिक में आ गया है। इस परिवर्तन का प्रभाव 12 राशियों पर क्या होगा आइए जानते हैं...
14
15
वास्तुशास्त्र में यह बताया गया है कि दीपक की लौ किस दिशा में होने पर उसका क्या फल मिलता है।
15
16
बेडरूम यानी शयन कक्ष वह कमरा होता है जहां आप अपनी दुनिया भर की चिंताएं भूल कर शांति से आराम और दांपत्य जीवन में प्यार घोलना चाहते हैं। लेकिन कई बार आपको पता नहीं है कि बेडरूम में रखी कुछ चीजें आपकी शांति में बाधक बन रही हैं।
16
17
स्तुत हैं वास्तु के अनुसार 13 ऐसी बातें जो हम सबको जरूर पता होना चाहिए। अगर आप भी अपने जीवन को सुख, शांति और सफलता से भरपूर बनाना चाहते हैं तो अवश्य अपनाएं।
17
18
लोग नहाने के बाद बाथरूम गंदा ही छोड़ देते हैं या बिना वजह पानी की बर्बादी करते हैं। ये आदत ज्योतिष के नजरिए से दुर्भाग्य बढ़ाने वाली है। इसकी वजह से चंद्र और राहु-केतु के दोष बढ़ते हैं।
18
19
13 सितंबर, रविवार को गुरु धनु राशि में मार्गी हो गया है और 20 नवंबर को मकर राशि में जाने तक मार्गी ही रहेगा।
19