मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. rain in north india
Written By
Last Updated: बुधवार, 2 मार्च 2022 (08:19 IST)

Weather Update: उत्तर भारत में होगी बारिश, जानिए अन्य राज्यों में कैसा रहेगा मौसम

नई दिल्ली। राजस्थान के कई हिस्सों में हुई बारिश के बाद मौसम सर्द हो गया था, वहीं प्रदेश में तेज हवाएं चलने की वजह से भी ठंड महसूस की जा रही है। हालांकि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार अब मौसम साफ रहेगा और धूप निकलेगी। इस पूरे सप्ताह मौसम ऐसा ही रहने की संभावना है। आज के मौसम की अगर बात करें तो जयपुर और उदयपुर में बादल छाए रहने की संभावना है, वहीं चुरु और अजमेर में धूप खिली रहेगी।

 
दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर निम्न दबाव का क्षेत्र बन गया है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है। यह गहरे निम्न दबाव में परिवर्तित हो सकता है और पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में श्रीलंका और दक्षिण तमिलनाडु तट की ओर बढ़ सकता है। पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान के ऊपर है और यह 2 मार्च से पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करना शुरू कर देगा।
 
मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ बारिश हुई : स्काईमेट के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों में छिटपुट हल्की बारिश तथा हलकी बर्फबारी हुई। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। छत्तीसगढ़ में छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश हुई। पूर्वी मध्यप्रदेश असम, मेघालय और नगालैंड में छिटपुट हल्की बारिश हुई।
 
अगले 48 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। अगले 2 से 3 दिनों के दौरान पश्चिमी हिमालय में हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।
 
2 मार्च को उत्तर-पश्चिमी और पश्चिमी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है। 3 मार्च को पंजाब, हरियाणा और उत्तर-पश्चिमी उत्तरप्रदेश में छिटपुट बारिश संभव है। 3 मार्च को तमिलनाडु के दक्षिणी और तटीय भागों में हल्की से मध्यम बारिश शुरू हो सकती है। 4 मार्च को तीव्रता बढ़ सकती है और तमिलनाडु, केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और दक्षिण आंध्रप्रदेश के कई हिस्सों को कवर कर सकती है। 1 और 2 मार्च को दक्षिण अंडमान सागर और 2 से 4 मार्च के बीच श्रीलंका, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के तट पर स्थितियां खराब हो सकती हैं।