वाजपेयी के सपनों का कश्मीर बनाएंगे-मोदी

किश्तवाड़| सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित शनिवार, 22 नवंबर 2014 (18:44 IST)
किश्तवाड़ (जम्मू कश्मीर)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अटलबिहारी वाजपेयी ने कश्मीर के लिए जो सपने दिखाए, उन्हें पूरा करने के लिए मोदी जान लगा देगा। मोदी ने राजनीति को संप्रदाय से न जोड़ने की बात भी कही।   
उन्होंने कहा कि अगर कोई मंदिर में जाता है या मस्जिद में जाता है तो वह हमारे लिए सिर्फ कश्मीरी है, हमारा अपना है। हम बिना भेदभाव के काम करेंगे। विकास मेरा मंत्र है। 50 साल से रिफ्यूजी की जितनी समस्याएं हैं, उनका समाधान करना मैं अपनी जिम्मेदारी मानता हूं। मैं आपसे कहना चाहता हूं, ये मोदी है, करके रहेगा। इस देश के लिए जीने-मरने वालों के लिए ये देश सब कुछ करने को तैयार है। जिन परिवारों ने अपने बच्चे खोए हैं, उन परिवार के लोगों को रोजगार मिलना चाहिए। उनकी सुरक्षा होनी चाहिए।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात का उदाहरण देते हुए कहा कि कच्छ जिले में बड़ी संख्या में मुस्लिम हैं। वहां पहले कोई जाने को तैयार नहीं था। कच्छ जिला हिंदुस्तान का सबसे तेज गति से विकास करने वाला जिला बन गया है। वहां 15 किलोमीटर की रेंज में 8 हजार मेगावॉट बिजली बनाई जा रही है। कपड़े के कारखाने लगे गए। अगर कच्छ का विकास हो सकता है तो कश्मीर का विकास भी हो सकता है?
 
उन्होंने कहा कि कश्मीर से मेरा दिली रिश्ता है तभी मैं यहां हर महीने आता हूं। उमर अब्दुल्ला सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि जब मैंने बाढ़ के बाद एक हजार करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा की तो राज्य सरकार को हैरत हुई कि इतने सारे पैसे कैसे दे दिए। यहां पर कभी पैसे की कमी नहीं पड़ी है, लेकिन कितना भी आता हो जब बाल्टी में ही छेद हो तो क्या कर सकते हैं। अगर यहां पैसे की चोरी बंद हो जाए जो बिना केंद्र की मदद के ही कश्मीर का विकास हो सकता है।
 
रिफ्यूजी मुद्दे पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि यहां झूठ फैलाया जा रहा है कि मुझे 12 लाख रिफ्यूजियों की परवाह नहीं है। मैं भरोसा दिलाता हूं कि हर एक रिफ्यूजी को इंसाफ मिलेगा। जिन लोगों ने अपनों को खोया है उनको रोजगार मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि, हम हाइड्रो प्रोजेक्ट के लिए नेपाल और भूटान जाते हैं, लेकिन इतने संसाधन हमारे पास भी मौजूद हैं। अकेले इस राज्य की इतनी ताकत है कि पूरे हिंदुस्तान का अंधेरा दूर किया जा सकता है, लेकिन रियासत के पास अपने लिए भी रोशनी नहीं है।
 
उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि दोनों परिवारों ने 5-5 साल की लूट का कॉन्ट्रैक्ट ले रखा है। दो परिवार ही कश्मीर पर राज करेंगे क्या? क्या यहां के नौजवानों में नूर नहीं है? क्या यहां के किसी परिवार में दम नहीं है? उन्होंने कहा कि कश्मीर के कुछ लड़के उनसे मिलने आए थे। उन्होंने बताया कि उनके गांव में टीवी नहीं था, लेकिन मेरे (प्रधानमंत्री) के भाषण के लिए गांव वालों ने मिलकर टीवी खरीदा।
 
मोदी ने कहा कि मैं कई बार यहां आया हूं। मैं विकास की बात करने आया हूं, यहां आपके आंसू पोंछने आया हूं। उन्होंने कहा कि बाढ़ के समय मैं बिना एक पल की देर किए चला आया था। अपनों के साथ दिवाली मनाने का मन किसे नहीं होता। लेकिन मैंने आपके साथ दिवाली मनाई। जब मैंने बाढ़ राहत के लिए बिना मांगे 1000 करोड़ का पैकेज दिया था तो यहां की सरकार को शुरू में आश्चर्य हुआ था कि इतने सारे पैसे प्रधानमंत्री ने कैसे दे दिए! प्रधानमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार आपसे कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है। मैं आपको निमंत्रण देता हूं, बिना गलती किए भाजपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाइए।
 
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में 25 नवंबर को पहले चरण का मतदान होना है। मोदी चुनाव से पहले राज्य में कम से कम सात चुनावी सभाएं करेंगे। पांच चरण में होने जा रहे चुनाव में हर चरण से पहले उनके एक या दो रैलियां करने की संभावना है। 87 सदस्यीय विधानसभा चुनाव मैदान में भाजपा मिशन 44 के साथ चुनाव मैदान में उतरी है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के खिलाफ सत्ता विरोधी माहौल और मोदी लहर के सहारे भाजपा पहली बार घाटी में चमत्कारिक प्रदर्शन की उम्मीद कर रही है।
 



और भी पढ़ें :