कुलदीप सेंगर को मिले फांसी की सजा, पीड़िता का परिजन संतुष्ट नहीं

Last Updated: शुक्रवार, 20 दिसंबर 2019 (17:40 IST)
उन्नाव (उप्र)। उन्नाव बलात्कार मामले में से दोषी करार दिए गए विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को की सजा सुनाए जाने के बाद पीडिता की बहन और मां ने शुक्रवार को कहा कि उसे फांसी की सजा दी जानी चाहिए, जिससे उन्हें सम्‍पूर्ण न्‍याय मिल सके।
पीड़िता की मां और बहन ने कहा कि फांसी नहीं हुई तो हम संतुष्‍ट नहीं हैं। कारण पूछने पर उन्होंने कहा कि उन्हें सेंगर के जेल में होने के बाद भी डर है। उन्होंने कहा कि यदि उसे फांसी नहीं होगी तो वह बाहर निकलेगा और हम लोगों को मार देगा।

पीड़िता की बहन ने अपने चाचा के लिए से न्‍याय की मांग की है। बहन ने कहा कि उसके चाचा महेश सिंह को बरी किया जाए। यदि सरकार बरी नहीं कर सकती है तो उन्‍हें जमानत दिलाई जाए। उन्होंने सेंगर पर आरोप लगाया कि उनके आदमी पैसा खिलाकर मेरे चाचा को न्‍याय पाने से वंचित कर रहे हैं। मेरे चाचा तो हमारे परिवार को न्‍याय दिलाने आए थे लेकिन कुलदीप सेंगर के इशारे पर उन्‍हें फर्जी मामलों में फंसा दिया गया है।

उन्होंने चाचा पर लगे मुकदमों को फर्जी बताते हुए कहा कि सरकार को मुकदमे वापस लेना चाहिए, क्‍योंकि कहा सारे मुकदमे फर्जी हैं। उन्होंने कहा कि अभी 4 मामले और हैं, उनमें भी हमें उम्‍मीद है कि हमें न्‍याय मिलेगा और आरोपियों को कड़ी सजा मिलेगी।

पीड़िता की बहन ने योगी सरकार और उत्तर प्रदेश की पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा कि यदि पुलिस उसे समय रहते न्‍याय दे देती है तो आज उसका परिवार उसके साथ होता, लड़ाई में जिसे हम खो चुके हैं, वह सारे जिंदा होते।


और भी पढ़ें :