1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. 77 people arrested in Khargone roits
Written By विकास सिंह
Last Updated: सोमवार, 11 अप्रैल 2022 (15:40 IST)

खरगोन उपद्रव में 77 दंगाई गिरफ्तार, SP के पैर में लगी गोली, बोले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा- जिस घर से पत्थर आए, उनको पत्थरों के ढेर में बदल देंगे

भोपाल। रामनवमी के जुलूस के दौरान खरगोन में दो गुटों के बीच हिंसक झड़प के‌ बाद पूरे शहर में कर्फ्यू लगा हुआ है। वहीं उपद्रव में खरगौन एसपी सिद्धार्थ चौधरी के पैर में गोली लगी है, जिनका इलाज किया जा रहा है। इस बात की पुष्टि खुद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की है।
 
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खरगोन में हुए उपद्रव की जानकारी देते हुए कहा कि खरगौन शहर में कर्फ्यू लगा हुआ है और अब तक 77 लोगों को चिन्हित कर गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने खरगोन एसपी के पैर में गोली लगने की भी पुष्टि की है।
 
गृहमंत्री ने कहा कि किसी भी दंगाई को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने साफ कहा कि खरगोन में जिस घर से पत्थर आए है उन घरों को पत्थर का ढ़ेर बनाएंगे।
 
 मध्यप्रदेश में कानून का राज है हम सांप्रदायिक सौहार्द नहीं बिगड़ने देंगे। लगातार पुलिस दंगाइयों की सर्चिंग कर रही है अभी तक 77 लोगों को गिरफ्तार किया है। वर्तमान में खरगोन में शांति बनी है पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात है और खरगोन शहर में  कर्फ्यू जारी है।
 
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि 5 राज्यों के परिणाम से आहत हुए लोग चिंगारी लगाने का काम कर रहे है। यही देश की प्रदेश की शांति बिगाड़ना चाहते हैं इन लोगों को परिणाम से समझना चाहिए कि आखिर देश चाहता क्या है। इन लोगों के मंसूबे पूरे नहीं होने देंगे।
 
दंगाईयों से होगी पूरी वसूली: वहीं मुख्यमंत्री शिवराज ‌सिंह चौहान ने कहा कि‌ खरगोन में दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है, दंगाई छोड़े नही जायेंगे। इनके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। मध्यप्रदेश की धरती में दंगाइयों के लिए कोई स्थान नहीं है। दंगाई चिन्हित कर लिए गए हैं, दंगाइयों को सिर्फ जेल भेजना नहीं है। जिन्होंने पत्थर चलाए है, संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, उनको दंडित तो करेंगे ही साथ में सार्वजनिक या निजी संपत्ति के नुकसान की वसूली भी दंगाइयों से करेंगे।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में हमने लोक एवं निजी संपत्ति नुकसान की वसूली का अधिनियम पास किया है। क्लेम टिब्यूनल का गठन हम कर रहे हैं। नुकसान का आकलन कर वसूली भी करेंगे और कठोरतम दंड देंगे। हम किसी दंगाई को छोड़ेंगे नहीं।