विराट कोहली ने बल्लेबाजों के सिर फोड़ा हार का ठीकरा, एल्गर ने कहा 'गर्व है'

Virat Kohli
पुनः संशोधित शुक्रवार, 14 जनवरी 2022 (18:36 IST)
केप टाउन: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने तीसरे टेस्ट में शुक्रवार को सात विकेट से हार के बाद कहा कि हम कुछ मौक़ों पर राह से भटक गए और टीम को अपनी बल्लेबाजी पर काम करने की जरूरत है।

ALSO READ:

भारत को 7 विकटों से हराकर दक्षिण अफ्रीका ने 2-1 से जीती टेस्ट सीरीज

विराट ने मैच के बाद कहा,''टेस्ट क्रिकेट के लिए यह एक शानदार सीरीज़ रही। हमने पहले मैच में बढ़िया प्रदर्शन किया लेकिन दक्षिण अफ़्रीका ने दूसरे और तीसरे मैच में वापसी की। हम कुछ मौक़ों पर राह से भटक गए और दक्षिण अफ़्रीका ने उनका पूरा फ़ायदा उठाया। विदेशी टेस्ट मैचों में हमने मैच के रुख को पलटने का काम किया है। जब भी हम ऐसा करने से चूके हैं, हमने मैच गंवाए हैं। बल्लेबाज़ी में हमने लगातार अंतराल पर विकेट भी खोए हैं। बल्लेबाज़ी ही निराशाजनक रही है। लोग हमेशा दक्षिण अफ़्रीका में गति और उछाल की बात करते हैं। मेज़बान गेंदबाज़ों ने ऊंचे कद का लाभ उठाया। हमारे गेंदबाज़ों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन बल्लेबाज़ी पर हमें काम करना होगा। मैं बहुत हताश हूं। जब लोग हमसे दक्षिण अफ़्रीका आकर जीतने की उम्मीद करते हैं, यह दर्शाता है कि हमने पिछले कुछ वर्षों में क्या किया है। हालांकि सच यह है कि हम यहां जीत नहीं पाए और इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि हमने ऑस्ट्रेलिया में क्या किया। लोकेश राहुल ने अच्छी बल्लेबाज़ी की और इस मैच में ऋषभ की पारी सकारात्मक पहलू रही। आगे जाकर हमें बेहतर बनना होगा और वापस आकर दोबारा प्रयास करना होगा।''

मुझे अपनी टीम पर गर्व है: एल्गर

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने भारत से तीसरा टेस्ट सात विकेट से और सीरीज 2-1 से जीतने के बाद कहा कि उन्हें अपनी टीम पर गर्व है।

एल्गर ने मैच के बाद कहा,'' मैं बहुत उत्साहित हूं। मुझे अपनी टीम पर गर्व है। इस सीरीज़ में कई बार हम पिछड़ रहे थे लेकिन टीम को आत्मविश्वास था कि हम पलटवार कर सकते हैं। मैं बहुत ख़ुश हूं। खिलाड़ियों को चुनौती देना अहम था। जिस प्रकार हमारे गेंदबाज़ी आक्रमण ने पिछले दो मैचों में गेंदबाज़ी की है वह लाजवाब है। हमारे पास युवा खिलाड़ी हैं जिन्हें अनुभव मिल रहा है। हमने दिखाया कि कैसे बिना सुपरस्टार खिलाड़ियों के भी हम साथ आकर कमाल कर सकते हैं। मैं नहीं बता सकता कि मैंने क्या चुनौतियां दी लेकिन मुझे उनके साथ कठिन चर्चा करनी पड़ी। यह देखकर अच्छा लगा कि अनुभवी खिलाड़ियों ने उस बात को समझा और मैदान पर उसका जवाब दिया। हमने एक टीम के रूप में क्रिकेट खेला जो हमारे लिए सफल साबित हुआ। पिछले दो मैचों में भी एक टीम के तौर पर हम आगे बढ़े हैं। अगर आपको विश्व की नंबरएक टीम बनना है तो आपको मज़बूत टीमों को हराना होगा। मैं यह कह सकता हूं कि मैंने अगली सीरीज़ के लिए तैयारी करना शुरू कर दिया है। कीगन ने जिस प्रकार का खेल दिखाया वह शानदार था। मैंने उनके ख़िलाफ़ बहुत क्रिकेट खेला है और मुझे पता था कि उनमें कुछ कर दिखाने का कौशल था। वह और बेहतर हो सकते हैं और अनुभवी खिलाड़ी होने के बावजूद वह बेहतर होना चाहते हैं।

प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द सीरीज बने कीगन पीटरसन ने भावुक होते हुए कहा,'' मेरे पास शब्द नहीं हैं। मैं खुश हूं और भावुक भी। मैंने पारी में सकारात्मक पहलूओं पर ध्यान दिया और सीखता गया। मैंने आत्मविश्वास रखा और खेलता चला गया। मेरी यात्रा कठिन रही है। टेस्ट क्रिकेट में आना भी आसान नहीं था और परिस्थितियां भी मुश्किल थी। हम जानते थे कि इस विश्व स्तरीय गेंदबाज़ी आक्रमण के ख़िलाफ़ कुछ भी आसान नहीं होगा। मुझे क्रीज़ पर समय बिताने में मज़ा आया। मैं जानता था कि समय बिताने के बाद रन आएंगे।''(वार्ता)



और भी पढ़ें :