अहमदाबाद में फैलते कोरोना और खाली स्टेडियम के बीच टीम इंडिया के सामने सीरीज बचाने की चुनौती

Last Updated: गुरुवार, 18 मार्च 2021 (12:45 IST)
के नवनिर्मित में दर्शक 2 टेस्ट और 2 टी-20 का लुत्फ उठा चुके हैं। पहले टी-20 में दर्शकों की कुल संख्या 67 हजार थी और दूसरे टी-20 में 66 हजार दर्शक स्टेडियम में मैच देखने पहुंचे थे।


मैच के दौरान दर्शकों की भीड़ देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता था कि बोर्ड आग से खेल रही है। जब जब कैमरा पैन हो रहा था ज्यादातर दर्शक बिना मास्क के ही दिख रहे थे। यही नहीं सोशल डिस्टेंसिंग का भी मजाक उड़ रहा था।

शहर में फैलते कोरोना को देखते हुए गुजरात क्रिकेट असोसिएशन ने 50 फीसदी दर्शकों के प्रवेश के निर्णय को तत्काल प्रभाव से वापस लिया और तीसरा टी-20 बिना स्टेडियम में बिना दर्शकों के खेला गया।

गुजरात में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1122 नए केस सामने आए हैं। इसमें से अहदमादाबाद में 271 नए केस सामने आए हैं। स्टेडियम में जाती हुई भीड़ इसके पीछे एक बड़ा कारण बनी, और अब प्रशासन सख्ती कर रहा है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण अब अहमदाबाद में सभी सरकारी और निजी जिम, स्पोर्ट्स क्लब, गेमिंग जोन, गुरुवार सुबह से ही आगामी आदेश तक बंद रहेंगे। अहमदाबाद नगर निगम ने यह निर्णय भी लिया है कि रिवरफ्रंट भी बंद रहेगा जिसके पास में नरेंद्र मोदी स्टेडियम स्थित है।

बहरहाल टीम इंडिया बायो सेक्योर बबल में है और कोरोना से ज्यादा कोहली एंड कंपनी को सीरीज बचाने पर करनी होगी। चिंता की बात यह है कि इस दौरे पर दर्शकों की गैरमौजूदगी टीम को खली है और एक भी मैच वह जीत नहीं पायी है। आज चौथे टी-20 में इसे टीम इंडिया बदलना चाहेगी।

गौरतलब है कि के दौरे पर पहला टेस्ट और तीसरा टी-20 दर्शकों के बिना खेला गया था और दोनों ही अंतरराष्ट्रीय मैच में टीम इंडिया को करारी हार का सामना करना पड़ा था।

टी-20 क्रिकेट बहुत बांधे रखने वाला खेल है। कई बार ऐसा देखा गया है कि घरेलू दर्शकों का समर्थन टीम को मुश्किल हालात से निकाल देता है। छोटी पार्टनरशिप बड़ी हो जाती है। एक विकेट से दूसरा विकेट आ जाता है। इंग्लैंड से बेहतर यह कौन जान सकता है जिसने कोरोना काल में घरेलू दर्शकों की अनुपस्थिति में 4 सीरीज खेली हैं।

दर्शकों के बिना स्टेडियम एक न्यूट्रल वेन्यू में तबदील हो जाता है। इस चुनौती से टीम इंडिया कैसे पार पाती है यह देखने लायक बात होगी। इंग्लैंड को ऐसी स्थिती में मैच खेलने का ज्यादा अनुभव है, क्योंकि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी भारतीय टीम जब खेली थी तो स्टेडियम दर्शक में मौजूद थे।

भारतीय टीम के लिए अब यह नॉकआउट हो चुकी है। बचे दो टी-20 में अगर भारतीय टीम एक भी मैच हार गई तो सीरीज गंवा बैठेगी। इंग्लैंड के लिए समीकरण थोड़े आरामदायक है। अगर आज का मैच इंग्लैंड हार जाती है तो 20 तारीख का अंतिम टी-20 मैच फाइनल की तरह हो जाएगा। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :