कोहली को गौतम की गंभीर सलाह, 'पाकिस्तान नहीं अफगानिस्तान से रहो होशियार'

पुनः संशोधित गुरुवार, 19 अगस्त 2021 (20:39 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली: भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज का मानना है कि भारत में अपने चिर प्रतिद्वंद्वी की तुलना में अधिक मजबूत टीम के रूप में शुरुआत करेगा जबकि राशिद खान की अगुवाई वाली की टीम उलटफेर कर सकती है।भारत और पाकिस्तान 24 अक्टूबर को दुबई स्टेडियम में अपने लीग अभियान की शुरुआत करेंगे।

टी20 विश्व कप 2007 के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ 75 रन की यादगार पारी खेलने वाले गंभीर ने कहा कि भारत के पड़ोसी देश पर बहुत अधिक दबाव रहेगा।
गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘पाकिस्तानी टीम से भी बहुत अधिक अपेक्षाएं की जाएंगी और यदि आप अभी की स्थिति पर गौर करो तो भारत पाकिस्तान की तुलना में बेहद मजबूत है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘टी20 प्रारूप ऐसा है जिसमें कोई भी टीम किसी टीम को हरा सकती है क्योंकि यह काफी हद व्यक्तिगत प्रदर्शन वाला प्रारूप है और हम किसी टीम को कमजोर नहीं आंक सकते हैं। ’’
गंभीर ने कहा, ‘‘उदाहरण के लिये आप अफगानिस्तान को कम करके नहीं आंक सकते। राशिद खान जैसे खिलाड़ी उलटफेर करवा सकते हैं। यह बात पाकिस्तान पर भी लागू होती है लेकिन हां दबाव पाकिस्तान पर होगा। ’’
उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग में खेलते हैं जिससे वह प्रतिस्पर्धी टीम बन गयी है और वह कुछ उलटफेर कर सकती है।
गंभीर ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि इस टूर्नामेंट में यदि कोई एक टीम छुपे रूस्तम के रूप में भाग लेगी तो वह अफगानिस्तान है। इसके अलावा उसके पास राशिद खान, मुजीब (उर रहमान) और मोहम्मद नबी जैसे खिलाड़ी हैं। आप उसके इन खिलाड़ियों को हल्के से नहीं ले सकते हो।’’

ग्रुप एक में आस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमें हैं और गंभीर ने उसे ‘मौत का ग्रुप’ करार दिया।
पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने आईसीसी टी-20 विश्व कप शेड्यूल के बारे में कहा, “ ग्रुप एक तगड़ा ग्रुप है और सच में यह वास्तविक समूह है, जिसमें इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के अलावा वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका भी शामिल है और टी-20 विश्व कप का पहला मैच भी ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच होगा जो बहुत रोमांचक होगा। वेस्ट इंडीज हमेशा से बहुत अप्रत्याशित रहा है। उसके पास जिस तरह की काबिलियत है वह तीसरी बार भी जीत सकता है। इंग्लैंड के पास भी यह क्षमता है। वनडे विश्व कप जीतने के बाद शायद वह पिछले कुछ वर्षों में सबसे ज्यादा कंसिंसटेंट सफेद गेंद टीम बन गई है। ऑस्ट्रेलिया सचमुच रडार से बाहर हो गया है, शायद इसलिए कि काफी मुख्य खिलाड़ी गायब हैं, लेकिन फिर मुझे लगता है कि वह टी-20 विश्व कप में बेहद खतरनाक हो सकता है। ”



और भी पढ़ें :